स्केलिंग रणनीतियां

प्रवृत्ति पर व्यापार

प्रवृत्ति पर व्यापार
मकर- आज का दिन काफी व्यस्तता में बीतेगा. दूसरे शहर जाना पड़ सकता है. ऑफिस में किसी से बहस होने की संभावना है. जिम्मेदारी ज्यादा रहेगी. अफसरों से मुलाकात हो सकती है.सरकारी कार्यों को पूरा करने के लिए चक्कर लगाने पड़ सकते हैं. दाम्पत्य जीवन अच्छा रहेगा. जीवनसाथी को शापिंग कराने के लिए ले जा सकते हैं. आपकाे खुशखबरी मिल सकती है. क्रोध से हानि होगी, कुसंगति से दूर रहें.

प्रवृत्ति पर व्यापार

फोटो: संयुक्त राष्ट्र

2015 में पेरिस में आयोजित 21वें विश्व जलवायु सम्मेलन (कॉप 21) में, सभी देश पहली बार ग्रीनहाउस गैसों को कम करने के लक्ष्यों के साथ जलवायु परिवर्तन को सीमित करने पर सहमत हुए थे। इससे पहले, केवल विकसित देशों को ग्रीनहाउस गैसों को कम करना पड़ता था, जबकि चीन, भारत और दक्षिण कोरिया जैसे देश ऐसा करने के लिए बाध्य नहीं थे।

विकासशील और उभरते देशों को अपने स्वयं के कम करने के लक्ष्य निर्धारित करने हेतु मनाने के लिए, औद्योगिक देशों ने 2015 से पहले ही उदार और निरंतर वित्तीय संसाधनों का वादा किया था। जलवायु संरक्षण और अनुकूलन के लिए समर्थन 2020 से सालाना 100 करोड़ अमेरिकी डॉलर तक पहुंचना था। यह एक केंद्रीय वादा था जिसने पेरिस जलवायु समझौते को संभव बनाया।

मिस्र में 27वें विश्व जलवायु सम्मेलन (कॉप 27) में जलवायु वित्त एक बार फिर एक प्रमुख विषय है। बात यह है कि धन अभी तक उस तरह प्रदान नहीं किया गया है जैसा कि वादा किया गया था, इसने पहले से ही सम्मेलन के लिए एक तनावपूर्ण माहौल पैदा कर दिया है।

अमित शाह ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर इसे रोकने का किया आह्वान

श्री शाह ने आज यहां आतंकवाद के वित्तपोषण का मुक़ाबला विषय पर तीसरे ‘नो मनी फॉर टेरर’ मंत्रीस्तरीय सम्मेलन के ‘आतंकवाद और आतंकवादियों को वित्त उपलब्ध कराने की वैश्विक प्रवृत्ति’ विषय पर प्रथम सत्र की अध्यक्षता की।

गृह मंत्री ने कहा कि आंतकवाद निस्संदेह, वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरा है, लेकिन उनका मानना है , “प्रवृत्ति पर व्यापार टेररिज्म का वित्तपोषण, टेररिज्म से कहीं अधिक खतरनाक है, क्योंकि टेररिज्म के ‘मीन्स एंड मेथड’ को, इसी फण्ड से पोषित किया जाता है, इसके साथ-साथ दुनिया के सभी देशों के अर्थतंत्र को कमजोर करने प्रवृत्ति पर व्यापार का भी काम टेररिज्म के वित्तपोषण से होता है।”

आतंकवाद के सभी रूपों और प्रकारों की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि निर्दोष लोगों की जान लेने जैसे कृत्य को, उचित ठहराने का, कोई भी कारण, स्वीकार नहीं किया जा सकता है। दुनियाभर में आतंकवादी हमलों के पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ संवेदना व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हमें इस बुराई से कभी समझौता नहीं करना चाहिए।

नई कंपनियों की संख्या 16% बढ़ी

Start your business, increase productivity and reduce tax

“31 अक्टूबर तक, 40,529 नई कंपनियां कहाँ बनाई गईं पुर्तगाल, पिछले साल की तुलना में रिकॉर्ड 16% अधिक है प्रवृत्ति पर व्यापार और जो पहले से ही केवल 4% है 2019 के पीछे, कंपनी ने एक बयान में कहा, “ नए के निर्माण में बहुत मजबूत वृद्धि के साथ परिवहन क्षेत्र जारी है 2021 की तुलना में 1,934 अधिक वाली कंपनियां, जो कि वृद्धि के अनुरूप हैं 123%”।

उसी कंसल्टेंसी फर्म के अनुसार और NM द्वारा रिपोर्ट की गई, “कंपनियों के बंद होने से संबंधित संख्याएं परिभाषित नहीं हैं प्रवृत्ति। 31 अक्टूबर तक, 10,078 कंपनियां बंद हुईं, की तुलना में 30 अधिक बंद पिछले वर्ष की समान अवधि और जो 0.3% की नगण्य वृद्धि प्रवृत्ति पर व्यापार के अनुरूप है “, और “रिटेल सेक्टर” में सबसे अधिक गिरावट वाला होने के अलावा नई कंपनियों की संख्या, वह भी है जो सबसे अधिक योगदान देती है इस क्षेत्र में 7.7% की वृद्धि के साथ, क्लोजर की संख्या में वृद्धि”।

जानिए आज राशिफल के अनुसार आपका लकी नंबर, दिशा और रंग

Thumbnail image

जानेंगे आज की लकी राशियां 18 नवंबर 2022 राशिफल में. जानिए आज के राशिफल के अनुसार आपका लकी नंबर, दिशा और रंग. आज कैसा रहेगा आपका दिन, नौकरी, प्रेम, विवाह, व्यापार जैसे मोर्चों पर कैसी रहेगी ग्रहदशा.

मेष- आज का दिन ठीक रहेगा. पुराने मामले हल होंगे. किसी को सलाह न दें. एकांत में रहने का मन करेगा. परिस्थितियों के साथ सामंजस्य बिठाएंगे. संभलकर धन खर्च करें. मासिक बजट प्रभावित हो सकता है. आज संतान को मिली सफलता से खुश रहेंगे. आपकाे नए स्रोत से लाभ हो सकता है. विवादित जगह से दूर रहें. पैतृक संपत्ति को लेकर चल रही समस्या उलझ सकती है. आपको सेहत को लेकर सतर्क रहना होगा.

युवा उद्यमशीलता: भारत में उभरती प्रवृत्ति Reading Time : 7 प्रवृत्ति पर व्यापार minutes -->

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय की स्थापना युवाओं को कुशल बनाने और उन्हें न केवल स्व-नियोजित बनाने बल्कि दूसरों के लिए रोजगार सृजित करने की कुशलता विकसित प्रवृत्ति पर व्यापार करने की दृष्टि से की है।

आंकड़ों के अनुसार हमारी 54 प्रतिशत आबादी 35 वर्ष से कम आयु की है और प्रति वर्ष लगभग 15 मिलियन कामगार हमारे देश के कार्यबल में शामिल होते हैं। इतनी बड़ी संख्या के लिए पर्याप्त रोजगार सृजित करने प्रवृत्ति पर व्यापार का केवल एक ही तरीका है कि सतत रूप से नवीनता भरी उद्यमशीलता के लिए एक वातावरण तैयार किया जाए। नवोन्मेषी युवा, जिन्हें हम अपने आस-पास देखते हैं, के साहस के साथ-साथ और सरकार तथा उद्योग की पहलें जो नवीनता और उद्यमशीलता प्रवृत्ति पर व्यापार को प्रोत्साहित करने के लिए है, की बदौलत भारत वैश्विक उद्यमशीलता रैंकिंग में जल्द ही अधिक ऊपर आ जाएगा।

रेटिंग: 4.19
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 294
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *