स्केलिंग रणनीतियां

निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग

निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग

Startup News : फिनटेक FlipItNews को 18 करोड़ की सीड फंडिंग मिली, तीन युवा उद्यमियों ने की शुरुआत


आईआईएम के पूर्व छात्र दीपांकर विश्वास, टेक्नोक्रेट दिप्तानिल दास और भारत भूषण ने 2020 में गुरुग्राम में फिनटेक स्टार्ट-अप FlipItNews की शुरुआत की थी। यह स्टार्ट-अप भारतीयों को वित्त, व्यापार और पूंजी बाजार निवेश को समझने के तरीके में क्रांति लाने, एआई और एमएल के माध्यम से इसे बढ़ावा देने के लिए तैयार किया गया है।

यह अनूठा स्टार्ट-अप भारतीयों के लिए वित्तीय साक्षरता शुरू करने का मिशन है। जहां वित्तीय जागरूकता, स्मार्ट सूचना, खोज और साथियों के साथ जुड़ाव से प्रेरित है। हाल ही में कंपनी ने अपने सीड फंडिंग दौर में इक्विटी और ओसीडीएस के रूप में 18 करोड़ रुपये जुटाए हैं। जिसका उपयोग तकनीकी बुनियादी ढांचे को सुधारने, नई उत्पाद सुविधाओं के निर्माण और अधिक उपयोगकर्ताओं को जोड़ने के लिए किया जाएगा।

पूंजी बाजार की गतिविधियों में उनकी भागीदारी के संबंध में भारतीयों के व्यवहार पर शोध करते हुए FlipItNews के संस्थापक इस तथ्य से हैरान थे कि बमुश्किल 3% नागरिक शेयर बाजारों में निवेश करते हैं। हालाँकि, यदि हम इस डेटा की तुलना संयुक्त राज्य निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग अमेरिका से करते हैं, तो यह स्पष्ट हो जाता है कि 50% से अधिक अमेरिकी नियमित रूप से शेयरों में निवेश करते हैं।

जब पूंजी बाजार में निवेश की बात आती है तो भारतीयों में आत्मविश्वास की कमी होती है। इस देश में संपत्ति, सोने और बैंक जमा में निवेश करना मुख्य है। यह वह जगह है जहां FlipItNews आता है। इस स्टार्ट-अप का आदर्श वाक्य प्रासंगिक जानकारी और स्मार्ट निवेशकों के साथ जुड़ाव के माध्यम से वित्तीय साक्षरता और निवेश को बढ़ावा देना है।

इस ऐप को 50 शब्दों में संक्षेपित एक स्मार्ट न्यूज डिस्कवरी प्लेटफॉर्म के रूप में शुरू किया गया था। किसी भी स्टॉक को एक क्लिक में खोजने, भारत के शीर्ष ब्रोकर्स से स्मार्ट सलाह और एक रीयल-टाइम एंगेजमेंट फीड उपयोगकर्ता को मिलती है। ऐप पर एक उपयोगकर्ता दूसरे के साथ चर्चा और बहस कर सकते हैं। मतलब, चलते-फिरते सीख सकते हैं। अब FlipItNews बहुप्रतीक्षित फीचर 'सर्कल' लॉन्च करने जा रहा है, जो इसे एक सोशल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म में तब्दील कर देगा।

इस बारे में बात करते हुए इसके सीईओ और सह-संस्थापक दीपांकर बिस्वास ने कहा, "हम ऐसे समय में रह रहे हैं, जहां हम एक वैश्विक वित्तीय क्रांति देख रहे हैं। हमने डोगेकॉइन के लिए और यहां तक ​​कि गेमस्टॉप के मामले में भी समुदाय और सोशल मीडिया की ताकत देखी है। सोशल ट्रेडिंग भविष्य है और हम इसे अत्यंत सरलीकृत करके उपयोगकर्ता के अनुभव के साथ जोड़ रहे हैं। इसे आधुनिक तकनीक की समझ रखने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए सरल और आकर्षक बना रहे हैं।"

सर्किल की अधिक विशेषताओं के बारे में पूछे जाने पर स्टार्ट अप के सीओओ और सह-संस्थापक भारत भूषण ने कहा, "हम न केवल एक समुदाय का निर्माण कर रहे हैं, बल्कि एक स्मार्ट प्लेटफॉर्म भी बना रहे हैं। जहां कोई भी फिन-टेक कंपनी अपना समुदाय बना सकती है। वित्तीय साक्षरता एक बहुत बड़ा काम है और इसे पूरा करने के लिए हम सभी को एकसाथ आगे आने की जरूरत है।"

नवीनतम अपडेट के अनुसार, 1,25,000 से अधिक उपयोगकर्ता पहले ही अपने स्मार्टफोन में FlipItNews ऐप इंस्टॉल कर चुके हैं। संस्थापकों को उम्मीद है कि यह संख्या बहुत जल्द मिलियन तक पहुंच जाएगी। स्टार्ट अप के सीटीओ और सह-संस्थापक दिप्तानिल दास ने कहा, "कोविड लॉकडाउन ने भारतीयों के लिए निवेश और वित्त में अधिक रुचि बढ़ाई है। हम इसे नए युग की तकनीक के साथ सरल बना रहे हैं।"

निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग

FXTM ब्रांड विभिन्‍न अधिकार-क्षेत्रों में अधिकृत और विनियमित है।

फॉरेक्स टाइम लिमिटेड (www.forextime.com/eu) साइप्रस प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग द्वारा विनियमित है, जिसका CIF लाइसेंस नंबर है 185/12, तथा यह दक्षिण अफ्रीका के फाइनेंशियल सेक्टर कंडक्ट अथॉरिटी (FSCA) द्वारा लाइसेंस प्राप्त है और इसका FSP नंबर 46614 है। यह कंपनी यू‍के के फाइनेंशियल कंडक्ट अथॉरिटी के साथ रजिस्टर्ड है, जिसका नंबर 600475 है।

ForexTime (www.forextime.com/uk) फाईनेंशियल कंडक्ट अथॉरिटी द्वारा लाइसेंस नंबर 777911 के अंतर्गत अधिकृत और विनियमित है।

Exinity Limited (www.forextime.com) मॉरीशस गणराज्य के वित्तीय सेवा आयोग द्वारा विनियमित निवेश डीलर है, जिसकी लाइसेंस संख्या C113012295 है।

कार्ड ट्रांजेक्‍शन एफटी ग्लोबल सर्विसेज लिमिटेड, रजिस्‍टर्ड नंबर HE 335426 और रजिस्‍टर्ड पता Ioannis Stylianou, 6, Floor 2, Flat 202 2003, Nicosia, Cyprus के माध्यम से प्रोसेस किए जाते हैं। कार्डधारक के पत्राचार के लिए पता: [email protected] व्‍यवसाय के स्थान का पता: FXTM Tower, 35 Lamprou Konstantara, Kato Polemidia, 4156, Limassol, Cyprus.

Exinity Limited वित्‍तीय फाईनेंशियल कमीशन का सदस्‍य है,जो फॉरेक्‍स मार्केट की फाइनेंशियल सर्विसेज इंडस्‍ट्री में विवादों का निपटारा करने वाला अंतर्राष्‍ट्रीय संगठन है।

जोखिम चेतावनी: फोरेक्‍स और लिवरेज किए गए वित्‍तीय इंस्‍ट्रूमेंट की ट्रेडिंग में महत्‍वपूर्ण जोखिम हैं और इससे आपकी निवेश की गई पूंजी का नुकसान हो सकता है। आप जितनी हानि उठाने की क्षमता रखते हैं उससे अधिक का निवेश न करें और आपको इसमें शामिल जोखिम अच्‍छी तरह समझना सुनिश्चित करना चाहिए। लेवरिज्ड प्रोडक्‍ट की ट्रेडिंग सभी निवेशकों के लिए उपयुक्‍त नहीं हो सकती। ट्रेडिंग शुरु करने से पूर्व, कृपया अपने अनुभव का स्‍तर, निवेश उद्देश्‍य पर विचार करें और यदि आवश्‍यक हो तो स्‍वतंत्र वित्‍तीय सलाह प्राप्‍त करें। क्‍लायंट के निवास के देश में कानूनी अपेक्षाओं के आधार पर FXTM ब्रांड की सेवाओं का प्रयोग करने की अनुमति है अथवा नहीं, यह निर्धारित करना क्‍लायंट की स्‍वयं की जिम्‍मेदारी है। कृपया FXTM का पूरा जोखिम प्रकटीकरण पढ़ें.

क्षेत्रीय सीमाएं: एफएक्सटीएम ब्रांड यूएसए, मॉरीशस, जापान, कनाडा, हैती, सूरीनाम, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कोरिया, प्यूर्टो रिको, ब्राज़िल, साइप्रस और हांगकांग के अधिकृत क्षेत्र के निवासियों को सेवाएं प्रदान नहीं करता है। हमारे बारंबार पूछे जाने वाले प्रश्‍न(FAQ) खंड विनियम में अधिक जानकारी पाएं।

© 2011 - 2022 FXTM

जोखिम की चेतावनी: ट्रेडिंग जोखिम भरा है। आपकी पूंजी जोखिम में है। Exinity Limited FSC (मॉरीशस) द्वारा विनियमित है।

जोखिम की चेतावनी: ट्रेडिंग जोखिम भरा है। आपकी पूंजी जोखिम में है। Exinity Limited FSC (मॉरीशस) द्वारा विनियमित है।

शेयर डीमेट खाता और आनलाइन शेयर ट्रेडिंग में बरते सावधानी: धोखाधड़ी आम बात

भारत में 1999 में शेयर की फिजिकल ट्रेडिंग बंद करते हुए पूरी प्रक्रिया को इलेक्ट्रॉनिक रूप दिया गया, जिसमें फिजिकल शेयरों को इलेक्ट्रॉनिक फार्म में रखना भी शामिल था और इसके लिए डीमेट खाता बनाया गया.

हम आप आज के समय शेयर को भी बैंकों में जमा पैसे की तरह डीमेट खाते से उपयोग कर सकते हैं. नेट बैंकिंग की तरह डीमेट खाता भी लाग इन आईडी और पासवर्ड से चलता है और इसी तरह हमारा शेयर ट्रेडिंग आकंउट भी चलता है.

डिजिटल रुप में सहुलियत तो बहुत है लेकिन उतनी सावधानी भी जरूरी है.

कोविड काल में शेयर बाजार में भारी उछाल और निवेश के विकल्पों की कमी के कारण लोगों का शेयर बाजार की तरफ आकर्षित होना स्वाभाविक ही था.

और शेयर बाजार ने भी इसका भरपूर फायदा उठाते हुए कई कंपनियों को निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग पैसे उगाहने में मदद की, साथ ही लाखों नए डीमेट खाते और शेयर ट्रेडिंग आकंउट खुल गए. न केवल लोग अपनी जमा पूंजी का निवेश शेयर बाजार में जमकर करने लगे, बल्कि कई शेयर एक्सपर्ट, ट्रेडिंग, ब्रोकर और डीमेट की दुकानें आनलाइन सोशल मीडिया पर खुल गई.

यही से शुरू हुआ शेयर बाजार में एक नए तरीके से धोखाधड़ी का कारोबार.

शेयर बाजार में धोखाधड़ी कोई नई बात नहीं है, इससे पहले भी हमने अनुभव किया है कि फर्जी डिमेट खातों के माध्यम से निवेश का घोटाला, फिर हाल में ही एक प्रतिष्ठित ब्रोकर कंपनी द्वारा डीमेट खाते में रखे शेयर को बिना शेयरधारकों से पूछे गिरवी रख देना. आज भी शेयरधारक अपने शेयर वापसी और नुकसान भरपाई की सालों बाद भी राह देख रहे हैं.

यह देश की विडम्बना ही तो है कि इतने सारे नियम कानून, नियामक एजेंसियों, सरकारी हस्तक्षेप के बावजूद व्यापक स्तर पर धोखाधड़ी हो रही है और लोगों के पास निवेश के विकल्प नहीं है.

हाल में ही देश की सबसे बड़ी ब्रोकिंग फर्म जेरोधा के को-फाउंडर और सीईओ नितिन कामथ ने ब्लॉग में लिखा है, “जब हमें नुकसान होता है तब हम किसी की भी सलाह मान लेते हैं. बाजार में बहुत सारे सलाहकार हैं जो निवेशक की मदद करते हैं. इनके बीच ही ऐसे कई धोखेबाज भी हैं जो सोशल मीडिया पर मार्केट एक्सपर्ट होने का दावा करते हैं और किसी निवेशक का शिकार करने की फिराक में रहते हैं.”

*मार्केट एक्सपर्ट या सलाहकार बनकर ये धोखेबाज आपकी मदद के नाम आपके डीमैट अकाउंट का लॉग-इन डिटेल्स ले लेंगे.*

इसके बाद ये आपके अकाउंट में गैर-वास्तविक ट्रेड्स का उपयोग करके एक नुकसान पैदा कर देते हैं और आपके पैसे को किसी अन्य ट्रेडिंग अकाउंट में भेज देते हैं.

शेयर डीमेट खाता और आनलाइन शेयर ट्रेडिंग में बरते सावधानी धोखाधड़ी आम बात

इससे आपके लिए यह पता लगाना बहुत मुश्किल हो जाता है कि आपके अकाउंट में घोटाला हो चुका है.

सावधानी और ध्यानपूर्वक काम करना ही बचने का तरीका

1. निवेशक इसलिए ठगे जाते हैं, क्‍योंकि वे अपने अकाउंट का लॉग इन डिटेल्‍स दूसरों को दे देते हैं.

2. निवेशक के ट्रेडिंग अकाउंट से पैसे निकालने के लिए इलिक्विड ऑप्शंस या पेनी स्टॉक का इस्तेमाल करके फर्जी नुकसान दिखाया जा सकता है.

3. जैसे अपने बैंक खाते से जुड़े लॉगिन डिटेल्स हम किसी के साथ शेयर नहीं करते, वैसे ही अपने ट्रेडिंग खाते के लॉग-इन पासवर्ड भी शेयर नहीं करने चाहिए.

4. डीमैट अकाउंट से छेड़छाड़ का एक दूसरा तरीका फिशिंग फ्रॉड है.

5. आप आधिकारिक ब्रोकर वेबसाइटों और ऐप के अलावा कहीं भी लॉग इन डिटेल्स न भरें.

6. कभी भी अपने लॉगिन डिटेल्स किसी के साथ शेयर ना करें.

7. अगर आप ऑप्शन ट्रेडिंग नहीं समझते हैं, तो उसमें कभी ट्रेड न करें, भले ही कोई आपसे कुछ भी कहे.

8. यदि आपको ऑप्‍शंस की समझ है, तो यह जान लें कि जब इलिक्विड ऑप्शंस का ट्रेज होता है, तो आप उसकी फेयर वैल्यू इम्प्लॉइड वोलैटिलिटी का इस्तेमाल करके लिक्विड स्ट्राइक और उसकी अंडरलाइंग को बदल सकते हैं और यहीं धोखाधड़ी होती है.

9. अगर आपने किसी ऐसे व्यक्ति को अपने खाते की डिटेल्स दी है, जिसने इस तरह से आपका नुकसान किया है तो इसकी शिकायत आप पुलिस से कर सकते हैं.

10. आखिर में सावधानी ही सुरक्षा है और बिना आपकी जानकारी के कोई भी लेनदेन अमान्य होगा. साथ ही पैसे लेनदेन की सीमा जरूर तय करें ताकि कोई भी अधिकृत व्यक्ति आपके खाते में एक तय सीमा से ज्यादा का लेनदेन न कर सकें.

डिजिटल युग में हम आनलाइन कार्यों से नहीं बच सकते लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं होना चाहिए कि हम अपनी जमापूंजी आनलाइन फ्राड में लुटवाते रहे और सिस्टम को कोसते रहे.

हजारों बेरोजगार लोग आनलाइन हम और हमारे लेनदेन पर नजर रख रहे हैं और छोटी सी असावधानी हमारे लिए नुकसान कारक हो सकती है.

Cryptocurrency : क्रिप्टो निवेशक कैसे बनाते हैं मार्केट स्ट्रेटजी, क्या होते हैं Pivot Points, समझें

क्रिप्टो ट्रेडिंग इक्विटी और स्टॉक में ट्रेडिंग जैसी ही है. दोनों ही बाजार में निवेशक कुछ पैरामीटर्स के जरिए ओवरऑल ट्रेंड का अनुमान लगाते हैं. इनमें से एक पैरामीटर होते हैं- पिवट पॉइंट्स. निवेशक बाजार में पिछले ट्रेडिंग सेशन में सबसे ऊंचे स्तर, निचले स्तर और क्लोजिंग प्राइस के आधार पर इन पॉइंट्स को कैलकुलेट करते हैं.

Cryptocurrency : क्रिप्टो निवेशक कैसे बनाते हैं मार्केट स्ट्रेटजी, क्या होते हैं Pivot Points, समझें

Crypto Trading में पिवट पॉइंट्स के सहारे ओवरऑल ट्रेंड प्रिडिक्ट किया जाता है.

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग (cryptocurrency trading) इक्विटी और स्टॉक में ट्रेडिंग जैसी ही है. दोनों ही जोखिम के साथ अनुमानों पर चलती हैं और दोनों ही बाजार में निवेशक कुछ पैरामीटर्स के जरिए ओवरऑल ट्रेंड का अनुमान लगाते हैं और प्रिडिक्शन करते हैं. इनमें से एक पैरामीटर होते हैं- पिवट पॉइंट्स (pivot points). निवेशक बाजार में पिछले ट्रेडिंग सेशन में सबसे ऊंचे स्तर, निचले स्तर और क्लोजिंग प्राइस के आधार पर इन पॉइंट्स को कैलकुलेट करते हैं. इससे अनुमान लगाया जाता है कि निवेश में उनका अगला कदम क्यों होना चाहिए. क्या उन्हें पैसे निकाल लेने चाहिए या निवेश डबल कर देना चाहिए.

पिवट पॉइंट्स क्या होते हैं?

यह भी पढ़ें

पिवट पॉइंट का पता तकनीकी विश्लेषण के जरिए लगाया जाता है और इससे बाजार के ओवरऑल ट्रेंड का पता चलता है. सीधे शब्दों में बताएं तो यह पिछले ट्रेडिंग सेशन में सबसे ऊंचे स्तर, निचले स्तर और क्लोजिंग प्राइस का एवरेज यानी औसत आंकड़ा होता है. अगर अगले दिन के ट्रेडिंग सेशन बाजार इस पिवट पॉइंट के ऊपर जाता है, तो कहा जाता है कि बाजार बुलिश सेंटीमेंट यानी तेजी दिखा रहा है, वहीं, अगर बाजार इस पॉइंट से नीचे ही रह जाता है तो इसे बेयरिश यानी गिरावट वाला मार्केट माना जाता है. ऐसे मार्केट में निवेशकों को अपनी रणनीति बदलने की सलाह दी जाती है.

जब पिवट पॉइंट्स के साथ दूसरे टेक्निकल टूल्स को मिलाकर गणना की जाती है, तो इससे निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग उस असेट के बारे में विस्तृत जानकारी के साथ-साथ किसी शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग सेशन में सपोर्ट और रेजिस्टेंट लेवल का पता भी लगता है.

पिवट पॉइंट्स कैसे कैलकुलेट किए जाते हैं?

पिवट पॉइंट कैलकुलेट करने के कई तरीके हैं, लेकिन सबसे आम तरीका फाइव-पॉइंट सिस्टम है. इस सिस्टम में पिछले ट्रेडिंग सेशन के ऊंचे, सबसे निचले स्तर, और क्लोजिंग प्राइस के साथ दो सपोर्ट लेवल और दो रेजिस्टेंस लेवल को लेकर कैलकुलेशन किया जाता है.

पिवट पॉइंट कैलकुलेट करने का समीकरण ये है :

पिवट पॉइंट = (पिछले सत्र का ऊंचा स्तर + पिछले सत्र का निचला स्तर + पिछला क्लोजिंग प्राइस) 3 से विभाजन (/)

सपोर्ट लेवल कैलकुलेट करने का समीकरण :

सपोर्ट 1 = (पिवट पॉइंट X 2) − पिछले सत्र का ऊंचा स्तर

सपोर्ट 2 = पिवट पॉइंट − (पिछले सत्र का ऊंचा स्तर − पिछले सत्र का निचला स्तर)

रेजिस्टेंस लेवल कैलकुलेट करने के लिए समीकरण :

रेजिस्टेंस 1 = (पिवट पॉइंट X 2) − पिछले सत्र का निचला स्तर

रेजिस्टेंस 2 = पिवट पॉइंट + (पिछले सत्र का ऊंचा स्तर − पिछले सत्र का निचला स्तर)

इन समीकरणों से निकली गणनाओं का इस्तेमाल दो रेजिस्टेंस लेवल, दो सपोर्ट लेवल और एक पिवट पॉइंट तय करने के लिए करते हैं. इस सिस्टम से ट्रेडर्स पता लगा सकते हैं कि कहां पर कीमतें प्रभावित हो सकती हैं और बाजार के सेंटीमेंट पर असर डाल सकती हैं.

टाइम फ्रेम

ट्रेडर्स आमतौर पर पिवट पॉइंट्स का इस्तेमाल छोटे टाइम फ्रेम का चार्ट बनाने के लिए करते हैं. या तो ज्यादा से ज्यादा 4 घंटे या फिर कम से कम 15 मिनट का चार्ट बनाया जा सकता है.

पिवट पॉइंट्स कितने तरह के होते हैं?

पिवट पॉइंट पांच तरह के होते हैं. फाइव-पॉइंट सिस्टम में स्टैंडर्ड पिवट पॉइंट (Standard Pivot Point) का इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा बाकी चार पिवट पॉइंट्स को- Camarilla Pivot Point, Denmark Pivot Point, Fibonacci Pivot Point और Woodies Pivot Point कहते हैं.

पिवट पॉइंट्स दूसरे इंडिकेटर्स या संकेतकों से अलग कैसे है?

पिवट पॉइंट सिस्टम मौजूदा प्राइस में मूवमेंट पर निर्भक रहने के बजाय, पिछले सत्र के डेटा का इस्तेमाल करता है. इस अप्रोच से ट्रेडर्स को आगे की संभावनाओं का जल्दी पता चलता है और वो इसके हिसाब से स्ट्रेटजी तैयार कर सकते हैं. ये पिवट पॉइंट अगले ट्रेडिंद सेशन तक स्टैटिक यानी स्थिर रहते हैं.

पिवट पॉइंट्स में कमी क्या है?

एक्सपर्ट्स का कहना है कि पिवट पॉइंट्स ज्यादा बेहतर मदद बस इंट्रा-डे ट्रेडिंग में ही करते हैं क्योंकि ये निवेश के एक रूप के रूप में सोशल ट्रेडिंग बहुत ही सीधी गणना पर आधारित होते हैं और इस वजग से स्विंग ट्रेडिंग में काम नहीं आ सकते. साथ ही, अगर करेंसी में प्राइस मूवमेंट बहुत ज्यादा होने लगी तो इससे पिवट पॉइंट्स के अनुमान व्यर्थ हो सकते हैं. ऐसे में जब बाजार में ज्यादा वॉलेटिलिटी हो यानी कि ज्यादा उतार-चढ़ाव हो तो निवेशकों को सलाह दी जाती है कि वो पिवट पॉइंट्स पर भरोसा न करें क्योंकि प्राइस मूवमेंट किसी भी कैलकुलेशन स्ट्रेटजी को धता बता सकता है.

Startup News : फिनटेक FlipItNews को 18 करोड़ की सीड फंडिंग मिली, तीन युवा उद्यमियों ने की शुरुआत


आईआईएम के पूर्व छात्र दीपांकर विश्वास, टेक्नोक्रेट दिप्तानिल दास और भारत भूषण ने 2020 में गुरुग्राम में फिनटेक स्टार्ट-अप FlipItNews की शुरुआत की थी। यह स्टार्ट-अप भारतीयों को वित्त, व्यापार और पूंजी बाजार निवेश को समझने के तरीके में क्रांति लाने, एआई और एमएल के माध्यम से इसे बढ़ावा देने के लिए तैयार किया गया है।

यह अनूठा स्टार्ट-अप भारतीयों के लिए वित्तीय साक्षरता शुरू करने का मिशन है। जहां वित्तीय जागरूकता, स्मार्ट सूचना, खोज और साथियों के साथ जुड़ाव से प्रेरित है। हाल ही में कंपनी ने अपने सीड फंडिंग दौर में इक्विटी और ओसीडीएस के रूप में 18 करोड़ रुपये जुटाए हैं। जिसका उपयोग तकनीकी बुनियादी ढांचे को सुधारने, नई उत्पाद सुविधाओं के निर्माण और अधिक उपयोगकर्ताओं को जोड़ने के लिए किया जाएगा।

पूंजी बाजार की गतिविधियों में उनकी भागीदारी के संबंध में भारतीयों के व्यवहार पर शोध करते हुए FlipItNews के संस्थापक इस तथ्य से हैरान थे कि बमुश्किल 3% नागरिक शेयर बाजारों में निवेश करते हैं। हालाँकि, यदि हम इस डेटा की तुलना संयुक्त राज्य अमेरिका से करते हैं, तो यह स्पष्ट हो जाता है कि 50% से अधिक अमेरिकी नियमित रूप से शेयरों में निवेश करते हैं।

जब पूंजी बाजार में निवेश की बात आती है तो भारतीयों में आत्मविश्वास की कमी होती है। इस देश में संपत्ति, सोने और बैंक जमा में निवेश करना मुख्य है। यह वह जगह है जहां FlipItNews आता है। इस स्टार्ट-अप का आदर्श वाक्य प्रासंगिक जानकारी और स्मार्ट निवेशकों के साथ जुड़ाव के माध्यम से वित्तीय साक्षरता और निवेश को बढ़ावा देना है।

इस ऐप को 50 शब्दों में संक्षेपित एक स्मार्ट न्यूज डिस्कवरी प्लेटफॉर्म के रूप में शुरू किया गया था। किसी भी स्टॉक को एक क्लिक में खोजने, भारत के शीर्ष ब्रोकर्स से स्मार्ट सलाह और एक रीयल-टाइम एंगेजमेंट फीड उपयोगकर्ता को मिलती है। ऐप पर एक उपयोगकर्ता दूसरे के साथ चर्चा और बहस कर सकते हैं। मतलब, चलते-फिरते सीख सकते हैं। अब FlipItNews बहुप्रतीक्षित फीचर 'सर्कल' लॉन्च करने जा रहा है, जो इसे एक सोशल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म में तब्दील कर देगा।

इस बारे में बात करते हुए इसके सीईओ और सह-संस्थापक दीपांकर बिस्वास ने कहा, "हम ऐसे समय में रह रहे हैं, जहां हम एक वैश्विक वित्तीय क्रांति देख रहे हैं। हमने डोगेकॉइन के लिए और यहां तक ​​कि गेमस्टॉप के मामले में भी समुदाय और सोशल मीडिया की ताकत देखी है। सोशल ट्रेडिंग भविष्य है और हम इसे अत्यंत सरलीकृत करके उपयोगकर्ता के अनुभव के साथ जोड़ रहे हैं। इसे आधुनिक तकनीक की समझ रखने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए सरल और आकर्षक बना रहे हैं।"

सर्किल की अधिक विशेषताओं के बारे में पूछे जाने पर स्टार्ट अप के सीओओ और सह-संस्थापक भारत भूषण ने कहा, "हम न केवल एक समुदाय का निर्माण कर रहे हैं, बल्कि एक स्मार्ट प्लेटफॉर्म भी बना रहे हैं। जहां कोई भी फिन-टेक कंपनी अपना समुदाय बना सकती है। वित्तीय साक्षरता एक बहुत बड़ा काम है और इसे पूरा करने के लिए हम सभी को एकसाथ आगे आने की जरूरत है।"

नवीनतम अपडेट के अनुसार, 1,25,000 से अधिक उपयोगकर्ता पहले ही अपने स्मार्टफोन में FlipItNews ऐप इंस्टॉल कर चुके हैं। संस्थापकों को उम्मीद है कि यह संख्या बहुत जल्द मिलियन तक पहुंच जाएगी। स्टार्ट अप के सीटीओ और सह-संस्थापक दिप्तानिल दास ने कहा, "कोविड लॉकडाउन ने भारतीयों के लिए निवेश और वित्त में अधिक रुचि बढ़ाई है। हम इसे नए युग की तकनीक के साथ सरल बना रहे हैं।"

रेटिंग: 4.18
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 380
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *