स्केलिंग रणनीतियां

क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं

क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं

PM Mudra Yojana Apply: पीएम मुद्रा योजना ऐसे करें आवेदन, 7 दिनों में मिलेगा 10 लाख लोन

PM Mudra Yojana Apply

पीएम मुद्रा ऋण योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक बहुत ही अच्छी पहल है. इस योजना का शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी ने साल 2015 में किया था.

इस योजना के तहत जरूरतमंद लोगों को जो अपना खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं और जो अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहते है उन लोगों को 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है.

इस योजना के तहत लोगों को कमर्शियल वाहन खरीदने के लिए भी सरकार के द्वारा लोन दिया जाता है.

अगर आप अपना खुद का छोटा-मोटा व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो इस योजना के तहत आप 10 लाख रुपए तक का ऋण ले सकते हैं.

इस योजना के माध्यम से आप ऑटो रिक्शा, ट्रैक्टर, ट्रॉली माल परिवहन वाहन, रिक्शा, ई-रिक्शा, तीन पहिया आदि खरीदने के लिए ऋण ले सकते हैं और अपना एक छोटा-मोटा कारोबार शुरू कर सकते हैं.

इस योजना के तहत सरकार ने महिलाओं को प्राथमिकता दिया है की महिलाएं कम ब्याज दर पर लोन लेकर अपना खुद का कारोबार शुरू कर सकते हैं और अपने जीवन को संवार सकते हैं.

अगर आप भी अपना खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं, इसके लिए ऋण लेना चाहते हैं, पीएम मुद्रा योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें.

इसमें हमने आपको पीएम मुद्रा ऋण योजना के प्रकार से लेकर आवेदन करने तक की प्रक्रिया बताया है.

सरकार की तरफ से व्यवसाय करने के लिए लोन दिया जा रहा है जिसे आप किसी भी बैंक से ले सकते हैं. इसके क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं लिए आप को बैंक ऑफ़ बड़ोदरा के द्वारा लोन लेने का उचित तरीका के बारे में अवश्य जाने.

पीएम मुद्रा योजना:

पीएम मुद्रा योजना महिलाओं के लिए बहुत ही खास है क्योंकि क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं इस योजना के तहत महिलाओं को कम ब्याज दर पर लोन दिया जाता है.

इस योजना के शुरू होने के बाद से अभी तक बहुत से महिलाओं ने अपना खुद का व्यवसाय शुरू किया और लोगों और समाज के बीच अपना नाम बनाया है.

इस योजना के शुरू होने के बाद से बहुत से महिलाओं ने अपने पैरों पर खड़ा हुए हैं और अपना घर परिवार चला रहे हैं.

इस पीएम मुद्रा ऋण योजना के तहत सरकार महिलाओं के लिए 27 सरकारी बैंक, 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 17 निजी बैंक, 25 गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी, 4 शहरी बैंक से 10 लाख रुपए तक मुद्रा ऋण उपलब्ध कराया है.

पीएम मुद्रा योजना का प्रकार:

भारत सरकार के द्वारा चलाई गई इस पीएम मुद्रा ऋण योजना के तहत लोगों को तीन तरह का ऋण दिया जाता है.

इस योजना का शुरुआत सरकार ने देश में ज्यादा से ज्यादा उद्योग शुरू करने के लिए बढ़ावा देने के लिए और पुराने उद्योग को आगे बढ़ाने के लिए इस योजना का शुरुआत किया गया था.

किस वर्ग में लोगों को कितना लोन दिया जाएगा इस बारे में हमने आपको नीचे बताया है. पीएम मुद्रा ऋण योजना तीन तरह का होता है जिसमें पहला है शिशु, दूसरा किशोर और तीसरा तरुण मुद्रा ऋण योजना.

शिशु ऋण योजना:

शिशु ऋण योजना के तहत लोगों को महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों को भी 1 से लेकर 50 हजार सुपर तक का लोन खुद का कारोबार शुरू करने के लिए दिया जाता है.

किशोर ऋण योजना:

इस किशोर योजना के तहत भी महिलाओं के साथ साथ पुरुषों को भी 50 हजार रुपए से लेकर 5 लाख रुपए तक का लोन अपने पुराने कारोबार को बढ़ाने के लिए या फिर नया कारोबार शुरू करने के लिए दिया जाता है.

तरुण ऋण योजना:

इस योजना के तहत लोगों को 5 लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन खुद का कारोबार शुरू करने और बढ़ाने के लिए दिया जाता है.

आप आसानी से पीएम मुद्रा लोन योजना के तहत व्यवसाय करने के बारे में सोच रहे हैं तो ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सर्वोत्तम बिज़नेस आइडिया में जरूर पढ़ें. ताकि आप आसानी से व्यवसाय के बारे में जान सके और उसे शुरू कर सके.

बिना गारंटी लोन:

भारत देश में स्वरोजगार को बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना का शुरुआत 2015 में किया था.

इस योजना के तहत हर एक तरह के लोगों को जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या फिर अपने पुराने व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहते हैं उन्हें बैंक बिना किसी जमानत के लोन देते हैं.

इस योजना के तहत कोई भी व्यक्ति जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहता है वह लोन ले सकता है. बस शर्त यह है कि उसका उम्र 18 साल से लेकर 65 साल के बीच होना चाहिए.

18 से 65 वर्ष के लोग आसानी से इस योजना के तहत लोन ले सकते हैं और अपना खुद का कारोबार शुरू कर सकते हैं और अपना या फिर अपने बच्चों के भविष्य को साकार कर सकते हैं.

पीएम मुद्रा लोन योजना:

यदि आप कोई छोटा-मोटा कारोबार करते हैं और आप अपने कारोबार को बड़े पैमाने पर बढ़ाना चाहते हैं पर आपके पास पैसा नहीं है तो इस योजना के तहत लोन लेकर कारोबार को बड़े पैमाने पर बढ़ा सकते हैं.

इसके लिए आप एक से अधिक बैंक चुन सकते हैं और बैंक में जाकर दस्तावेजों के साथ ऋण आवेदन पत्र भरकर जमा कर सकते हैं.

यदि आपका आवेदन पत्र सही पाया जाता है तो फिर आपका ऋण बैंक के द्वारा पास कर दिया जाएगा आपको मुद्रा कार्ड बैंक के द्वारा दिया जाएगा.

जिससे की जब आपको पैसों की जरूरत पड़ेगी आप पैसे निकाल सकते हैं. इस योजना के तहत आवेदक लोन लेने के बाद बैंक का कर्ज 5 सालों तक आसानी से चुकाते रहेगा.

अगर आप इस योजना के तहत लोन लेते हैं तो आपको ऋण जमा करने के लिए किसी तरह का कोई दबाव नहीं दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत अगर तुरंत लोन प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए जरूरी दस्तावेज और योग्यता के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है. तभी आप मुद्रा लोन आवेदन आसानी से कर सकते हैं.

पीएम मुद्रा ऋण योजना आवेदन प्रक्रिया:

अगर आप अपने व्यवसाय को बड़े पैमाने पर बढ़ाना चाहते हैं या फिर अपना खुद का कोई छोटा-मोटा व्यापार शुरू करना चाहते हैं.

तो आप इस योजना के तहत लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं और लोन प्राप्त करके अपना खुद का कारोबार शुरू कर सकते हैं.

आवेदन करने की प्रक्रिया हमने आपको नीचे बताया है जिसे फ़ॉलो करके आप आसानी से पीएम मुद्रा योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं.

1. आवेदन करने के लिए आप नजदीकी बैंक या फिर संस्था पर जाकर फॉर्म भरे.

2. इसके अलावा आप जिस बैंक से लोन लेना चाहते हैं उसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भर सकते हैं.

3. फॉर्म लेने के बाद आप उसमें अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड संख्या, और अन्य जरूरी जानकारी को भरे.

4. आवेदन फॉर्म जमा करने के साथ-साथ सभी जरूरी दस्तावेज को भी सही से जांच करके जमा करें.

5. यदि आप बैंक के द्वारा सत्यापित की गई सारे शर्तों को पूरा करते हैं तो फिर कुछ ही दिनों में आपके खाते में लोन का पैसा जमा क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं कर दिया जाएगा.

यदि आप भी इच्छुक हैं व्यवसाय करने के लिए तो सरकार बिना सिक्योरिटी के लोन दे रही है इस विषय में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए सरकार खुद का व्यापार शुरू करने हेतु बहुत ही कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करा रही है.

निष्कर्ष:

प्रधानमंत्री के द्वारा शुरू की गई पीएम मुद्रा ऋण योजना योजना के तहत जितने भी लोग अपना खुद क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं का कारोबार शुरू करना चाहते हैं.

उन सभी को सरकार के द्वारा 10 लाख रुपए तक का ऋण दिया जाएगा.

पीएम मुद्रा योजना की लाभ उठाने के लिए आवेदन की प्रक्रिया हमने आपको ऊपर बताया है. जिसे फॉलो करके आप आसानी से पीएम मुद्रा ऋण योजना का लाभ उठा सकते हैं.

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

1 thought on “PM Mudra Yojana Apply: पीएम मुद्रा योजना ऐसे करें आवेदन, 7 दिनों में मिलेगा 10 लाख लोन”

सर मुझे 5 लाख तक का लोन की जरूरत है की मैं अपना कारोबार करना चाहता हूं सर मुझे बताएं की पीएम मुद्रा लोन कैसे मिलेगा

Leave a Comment Cancel reply

पॉपुलर पोस्ट

  • Petrol Lpg Gas Price: अचानक पेट्रोल ₹15 और गैस ₹563 रुपये हुआ सस्ता
  • Free Laptop Tablet yojana: फ्री लैपटॉप चाहिए तो जल्दी भर दें ये फॉर्म
  • EPF Pension Hike: खुशखबरी! पेंशन में होगी 8,500 की बढ़ोतरी
  • Today Gold Price: सोने की कीमत में कितनी आई गिरावट?
  • Online Janam Praman Patra Apply: ऐसे बनाएं जन्म प्रमाण पत्र

आप सभी का WTechni ब्लॉग में स्वागत है जो भारत की पॉपुलर वेबसाइट में से एक है. जिसका उद्देश्य इंटरनेट, करियर और तकनीक से जुड़े ज्ञान को लोगों तक पहुंचाना और देश के विकास में योगदान देना है.

भारत की इन खूबसूरत जगहों पर यूं ही नहीं घुस सकते हैं भारतीय, लेना पड़ता है परमिट

ऐसे बहुत से देश हैं जहां जाने के लिए भारतीय को वीजा की जरूरत पड़ती है. बिना वीजा के इन देशों में भारतीय को एंट्री नहीं मिलती है लेकिन क्या आप जानते हैं भारत में भी कुछ ऐसी जगहें हैं जहां जाने के लिए खुद भारतीयों को भी परमिशन की जरूरत होती है. इसे इनर लाइन परमिट या ILP भी जाता है. इनर लाइन परमिट का नियम कोई नया नहीं है.

इनर लाइन परमिट की जरूरत बॉर्डर के पास स्थित या सांस्कृतिक रूप से संवेदनशील जगहों में घूमने के लिए चाहिए होती है. ऐसा इसलिए है ताकि इन जगहों पर लोगों क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं की भीड़ को आने से रोका जा सके और इन जगहों में रहने वाले आदिवासियों के कल्चर को सुरक्षित रखा जा सके.

ऐसे में आज हम आपको भारत की कुछ ऐसी जगहों के बारे क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं में बताने जा रहे हैं जहां जाने के लिए खुद भारतीयों को भी परमिट की जरूरत पड़ती है और बिना परमिट के भारतीयों को यहां एंट्री नहीं मिल सकती.

अरुणाचल प्रदेश- अरुणाचल प्रदेश क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं की सीमा म्यांमार, भूटान और चीन को छूती है. इसलिए इस क्षेत्र को काफी सेंसेटिव माना जाता है. लोकल लोगों के अलावा किसी भी व्यक्ति को यहां आने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत पड़ती है. जो लोग यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, वे संरक्षित क्षेत्रों के लिए परमिट नई दिल्ली, कोलकाता, गुवाहाटी और शिलॉन्ग में अरुणाचल प्रदेश सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर से प्राप्त कर सकते हैं. सिंगल परमिट और ग्रुप परमिट की कीमत प्रति व्यक्ति 100 रुपए है और यह परमिट 30 दिनों के लिए मान्य रहता है. यहां जाने के लिए आप ऑनलाइन भी परमिट ले सकते हैं.

नागालैंड- नागालैंड की सीमा म्यांमार को छूती है और यहां 16 तरह के आदिवासी समुदाय रहते हैं. यहां रहने वाले आदिवासी समुदायों के लोगों की अपनी अलग भाषा, रिवाज और खानपान है. जो लोग इस जगह पर घूमने के लिए जाना चाहते हैं, उन्हें इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है. कोहिमा, दीमापुर, नई दिल्ली, मोकोकचुंग, शिलॉन्ग और कोलकाता के डिप्टी कमीश्नर ऑफिस से यहां जाने का परमिट प्राप्त किया जा सकता है. इसके अलावा, आप परमिट ऑनलाइन भी प्राप्त कर सकते हैं.

मिजोरम- मिजोरम की सीमा म्यांमार और बांग्लादेश को छूती है और यह कई आदिवासी समुदायों का घर भी है. इस खूबसूरत जगह पर घूमने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है. जिसे आप सिलचर, कोलकाता, गुवाहाटी, शिलॉन्ग और नई दिल्ली में मिजोरम सरकार के संपर्क अधिकारी से प्राप्त कर सकते हैं. हालांकि, जो लोग इस राज्य में फ्लाइट से जा रहे हैं वो आइजोल के लेंगपुई एयरपोर्ट पर सुरक्षा अधिकारियों से स्पेशल पास भी ले सकते हैं. मिजोरम जाने के लिए 2 तरह के परमिट उपलब्ध हैं- एक परमिट सिर्फ 15 दिनों के लिए मान्य होता है जबकि दूसरा परमिट 6 महीने के लिए मान्य होता है.

सिक्किम के संरक्षित इलाके- अगर आप सिक्किम के संरक्षित इलाकों में घूमने के लिए जाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है. यात्रियों को नाथूला पास, त्सोमगो-बाबा मंदिर ट्रिप, दज़ोंगरी ट्रेक, सिंगालीला ट्रेक, युमेसमडोंग, गुरुडोंगमार झील ट्रिप, युमथांग और जीरो पॉइंट ट्रिप, और थंगु-चोपटा वैली ट्रिप के लिए परमिट की आवश्यकता होगी. परमिट पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग (Tourism & Civil Aviation Department) द्वारा जारी किया जाता है, इसे आप बागडोगरा एयरपोर्ट और रंगपोचेकपोस्ट से प्राप्त कर सकते हैं. स्पेशल परमिट पाने के लिए आप टूर ऑपरेटरों या ट्रैवल एजेंट्स की मदद भी ले सकते हैं.

लक्षद्वीप- लक्षद्वीप जाने के लिए भी यात्रियों को परमिट की जरूरत पड़ती है. परमिट के लिए आपको अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन से क्लीयरेंस सर्टिफिकेट की जरूरत होती है इसके अलावा आपके दस्तावेजों की जांच भी की जाती है. परमिट मिलने के बाद, आपको अपना क्लीयरेंस सर्टिफिकेट लक्षद्वीप में स्टेशन हाउस ऑफिसर के पास जमा करना होगा. यहां जाने के लिए आप ऑनलाइन परमिट प्राप्त कर सकते हैं.

साइबर ठग ने निकाला नया पैतरा, अब अकाउंट में रुपये भेजकर उड़ा रहे बैंक बैलेंस

कानपुर। अगर आपके अकाउंट में अचानक से रुपये आ जाएं तो आप तुरंत सतर्क हो जाइये। इसकी तत्काल सूचना बैंक और पुलिस को दे सकते हैं। यह साइबर अपराधी की चाल हो सकती है, जिसके जाल में फंसकर आप अकाउंट की पूरी जमा पूंजी गंवा सकते हैं।

शातिर गूगल पे, फोन पे, भारत पे समेत अन्य एप के माध्यम से खाते तक पहुंचते हैं। इसमें पहले अकाउंट में एक निश्चित धनराशि डाली जाती है, जिसके बाद उस राशि को दोबारा भेजने के लिए कहा जाता है। इस ट्रांजेक्शन के साथ ही साइबर ठग आपके खाते को पूरी तरह ट्रेस कर लेता है और पूरी राशि उड़ा ली जाती है।

साइबर सेल के विशेषज्ञों के मुताबिक अकाउंट में किसी भी व्यक्ति द्धारा भेजे गए पैसे को आप दोबारा उसके अकाउंट में नहीं भेजें। इसकी सूचना पुलिस को दें। किसी भी अनजान कॉल आने पर आप उससे गोपनीय जानकारी साझा न करें।

ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय सावधान रहने की जरूरत है। कमिश्नरेट पुलिस के साइबर सेल के पास ऐसी ही कुछ शिकायतें आई हैं, जिन अपर काम शुरू हो गया है। सेल के तेज तर्रार अधिकारियों को लगाया गया है।

आप अगर एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करते है, तो इसमें सावधानी जरूर बरतें, नहीं तो ठग गलत इस्तेमाल करके आपके खाते से लाखों का चूना लगा सकते है। बिना जांच परख के किसी भी यूपीआई लिंक पर क्लिक नहीं करें। साथ ही अपनी पर्सनल जानकारी भी किसी के साथ शेयर नहीं करें। कोई भी लिंक खोलने से पहले उसकी जांच परख जरूर कर लें।

किसी भी तरह के साइबर ठगी होने पर बैंक के कस्टमर हेल्पलाइन नंबर पर तुरंत कॉल करके खाता ब्लॉक करा दें। कई बार हैकर एक बार पैसे निकालने के बाद भी दोबारा पैसा निकालने की कोशिश करता है। साथ ही ठगी की शिकायत नजदीकी थाने में तुरंत कराएं।

अगर आप साइबर ठगी के शिकार होते है तो उसके शुरुआती दो-तीन घंटे बहुत महत्वपूर्ण होते है। ऐसे में आप जितनी जल्दी रिपोर्ट करेंगे, साइबर सेल की टीम उतनी जल्द एक्शन लेगी। इससे आपके पैसे वापस आने की संभावना रहती है।

अपने बैंक, इंश्योरेंस कंपनी, आधार अपडेशन सेंटर आदि के कस्टमर केयर के डिटेल्स के लिए गूगल जैसे किसी सर्च इंजन का सहारा लेते हैं। हालांकि ठग इसमें भी अपनी नजरें जमाए बैठे है। ओरिजिनल कांटैक्ट डिटेल्स की बजाय उनका अपना डिटेल्स वहां दिखे। अगर आपने इन नंबरों पर कॉल की तो ठग आपसे बात करके आपकी गोपनीय जानकारियां हासिल कर लेते है। इसके बाद वह आपका खाता खाली कर सकते है।

'गुजरात और गुजरातियों को बदनाम करने का काम चल रहा है, इनसे सावधान रहे': वलसाड में प्रधानमंत्री

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए अब गिनती के दिन बचे हैं। उस वक्त बीजेपी, कांग्रेस और आप समेत पार्टियां बड़े पैमाने पर प्रचार में जुटी हैं। आज से पीएम मोदी ने गुजरात में प्रचार की कमान भी संभाल क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं ली है। वलसाड जिले के वापी में 11 किलोमीटर लंबा रोड शो करने के बाद प्रधानमंत्री ने वलसाड में एक जनसभा को संबोधित किया। बिना किसी दल का नाम लिए प्रधानमंत्री ने हमला बोलते हुए कहा गुजरात और गुजरातियों को बदनाम करने के लिए गिरोह सक्रिय हो रहे हैं, सावधान रहें।

प्रधानमंत्री ने वलसाड में कहा कि गुजरात में गिरोह सक्रिय हो गए हैं। जो गुजरात और गुजरातियों को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है इसलिए सावधान रहें। दुनिया में गुजरात की छवि खराब करने का काम चल रहा है। गुजराती जहां भी गए दूध में शक्कर की तरह घुल गए हैं और जो भी गुजरात आए उसे गले से लगा लिया। लेकिन हम उन लोगों को किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं कर सकते जो गुजरात को रिवर्स गियर में डालने की कोशिश कर रहे हैं। गुजरात को बदनाम करने वाले तत्वों का गुजरात में कोई स्थान नहीं है।

जब कांग्रेस की सरकार थी तब 1 जीबी डेटा 300 रुपये था, लेकिन आज मोदी सरकार आने के बाद 10 रुपये ही है। आप इस पैसे को बचाते हैं या नहीं। अभी आप मोबाइल फोन यूज कर रहे हैं।व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम आप चला रहे होंगे।पहले की सरकार होती तो आपके मोबाइल का बिल चार से पांच हजार रुपये महीना होता।

पहली बार मतदान करने जा रहे लोगों से प्रधानमंत्री ने कहा कि आपको 18 साल पूरे होने के बाद वोट देने का अधिकार नहीं मिला है, लेकिन आप गुजरात के नीति निर्माता बन गए हैं। मुझे अपने नए युवाओं से कहना है जो पहली बार मतदान करने जा रहे हैं, जिम्मेदारी लें कि 25 साल में भारत कैसा होना चाहिए, यह तय करना आपका वोट है। मेरा विशेष अनुरोध उन लोगों से है जो इस चुनाव में पहली बार मतदान करने जा रहे हैं। गुजरात का युवा नौकरी मांगने वाला नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बन रहा है।

गुजरात विधानसभा में चुनाव प्रचार के लिए पीएम मोदी आज शाम दमन एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से वापी तक 11 किमी का रोड शो किया गया। रोड शो के दौरान सड़क के दोनों ओर भीड़ जमा हो गई। कार से निकले लोगों ने प्रधानमंत्री का अभिवादन किया.लोगों ने मोदी. मोदी. के नारे भी लगाए।

प्रधानमंत्री पिछले 14 दिनों में दूसरी बार वलसाड जिले में सभा को संबोधित करने आए हैं। 5 नवंबर को वलसाड के नाना पोंढा में जनसभा को संबोधित किया था। जिसमें कहा गया था, आदिवासी के लिए एबीसीडी की शुरुआत ए से होती है। साथ ही क्या आप जमा के बिना व्यापार कर सकते हैं कहा, गुजरात बीजेपी मुझसे जितना समय मांगेगी मैं देने को तैयार हूं। मैं काम करना चाहता हूं ताकि भूपेंद्र का रिकॉर्ड नरेंद्र से ज्यादा मजबूत हो।

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए अब मतगणना के दिन बचे हैं। फिर आज से तीन दिन तक प्रधानमंत्री दक्षिण गुजरात, मध्य गुजरात और सौराष्ट्र में जमकर प्रचार करेंगे. वलसाड, गिर सोमनाथ, राजकोट, सुरेंद्रनगर, अमरेली, भरूच, बोटाद और नवसारी जिलों में जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

Jeevan Pramaan Patra: डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट की वैधता को करें चेक, करें इन स्टेप्स को फॉलो

Jeevan Pramaan Patra: Check the validity of Digital Life Certificate, follow these steps

पेंशन लाभ प्राप्त करने के लिए पेंशन योजना के लाभार्थियों के लिए प्रत्येक माह एक जीवन प्रमाण पत्र (डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र) जमा करना महत्वपूर्ण है। यदि आप जीवन प्रमाण जमा नहीं करते हैं, तो आप पेंशन फंड का उपयोग करने के पात्र नहीं होंगे। डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट या लाइफ सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से सबमिशन स्वीकार किए जाते हैं। वहां जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए बैंक या योजना की वेबसाइट पर जाएं।

पेंशन लाभ जारी रखने के लिए, एक जीवन प्रमाण पत्र सालाना प्रदान किया जाना चाहिए। यदि आपको एक साल बीत जाने के बाद की समय सीमा नहीं पता है, तो आप जीवन प्रमाण पत्र जमा करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं। अपने डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की स्थिति की समीक्षा करके भी आप समय पर अपनी पेंशन प्राप्त कर सकते हैं।

डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट क्या है?

यह एक डिजिटल पेंशनर प्रमाणपत्र है जिसमें पेंशनभोगी के आधार कार्ड का बायोमेट्रिक और भौतिक डिटेल होता है। आईटी एक्ट के तहत एक वैध सर्टिफिकेट डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट है। यह पेंशनरों के निरंतर अस्तित्व के प्रमाण के रूप में कार्य करता है, जिस पर पेंशन का मासिक लाभ आधारित होता है।

जीवन प्रमाण वेबसाइट के अनुसार, आप मोबाइल डिवाइस के लिए जीवन प्रमाण पत्र ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं।

स्टेप्स : 1. ऐप डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले https://jeevanpramaan.gov.in पर जाना होगा।

स्टेप्स: 2. अपना ईमेल एड्रेस एंटर करें, कैप्चा पूरा करें और डाउनलोड करने के लिए सहमत हों।

स्टेप्स: 3. ओटीपी एंटर करें जो आपके ईमेल पर भेजा गया था।

स्टेप्स4 : आपको अपना ओटीपी प्रदान करने के बाद Download Mobile App पर क्लिक करना होगा।

स्टेप्स : 5. ईमेल में दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप एपीके फ़ाइल डाउनलोड कर सकते हैं।

रेटिंग: 4.65
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 144
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *