प्रवृत्ति पर व्यापार

विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023

विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023

भारत की आर्थिक समीक्षा 2021-22 के मुख्य बिंदु - Economic survey 2022

केन्‍द्रीय वित्‍त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 31 जनवरी, 2022 को संसद में आर्थिक समीक्षा 2021-22 पेश की। जिसके मुख्य बिंदु निम्न है:

  • 2020-21 में 7.3 प्रतिशत की विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 गिरावट के बाद 2021-22 में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के 9.3 प्रतिशत (विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 पहले अग्रिम अनुमान के अनुसार) बढ़ने का अनुमान है।
  • 2022-23 में जीडीपी की विकास दर 8 - 8.5 प्रतिशत रह सकती है। यह अनुमान विश्‍व बैंक और एशियाई विकास बैंक की क्रमश: 8.7 और 7.5 प्रतिशत रियल टर्म जीडीपी विकास की संभावना के अनुरूप है।
  • आईएमएफ के ताजा विश्‍व आर्थिक परिदृश्‍य अनुमान के तहत, 2021-22 और 2022-23 में भारत की रियल जीडीपी विकास दर 9 विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 प्रतिशत और 2023-24 में 7.1 प्रतिशत रहने की संभावना है।
  • 2021-22 में कृषि और संबंधित क्षेत्रों के 3.9 प्रतिशत, उद्योग के 11.8 प्रतिशत और सेवा क्षेत्र के 8.2 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है।
  • अप्रैल-नवम्‍बर 2021 के दौरान पूंजी व्‍यय में सालाना आधार पर 13.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।
  • 31 दिसम्‍बर, 2021 तक विदेशी मुद्रा भंडार 633.6 बिलियन डॉलर के स्‍तर पर पहुंचा

भारत, विश्व में दसवां सबसे बड़ा वन क्षेत्र वाला देश है।

2010 से 2020 के दौरान वन क्षेत्र वृद्धि के मामले में 2020 में भारत का विश्व में तीसरा स्थान रहा।

2020 में भारत के कुल भौगोलिक क्षेत्र में कवर किए गए वन 24 प्रतिशत रहे यानी विश्व के कुल वन क्षेत्र का 2 प्रतिशत।

कोरोना के बाद अब महंगाई विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 की मार, सात करोड़ लोग होंगे गरीब, IMF ने दी ये चेतावनी

कोरोना महामारी के बाद अब पूरी दुनिया अब महंगाई का मार झेल रही है। इसी बीच अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की ओर से और बुरी खबर दी गई है। IMF के MD क्रिस्टालिना जियॉर्जिएवा की ओर से बताया गया है कि सात करोड़ लोग गरीब होंगे।

international-monetary-fund-imf-managing-director-kristalina-georgieva-on-inflation-making-people-poorer-tuts.jpg

international monetary fund imf managing director kristalina georgieva on inflation making people poorer tuts

पूरी दुनिया की आर्थिक चुनौतियां कम होने का नाम नहीं ले रही है। पहले कोरोना महामारी के कारण दुनिया भर के देशों की अर्थव्यवस्था मुश्किल हालात में पहुंच गई। वहीं अब दुनिया भर के कई देश महंगाई के मार से परेशान हैं, जिसके कारण वैश्विक आर्थिक मंदी का खतरा मंडराते हुए दिखाई दे रहा है। इसी बीच अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के प्रमुख क्रिस्टिलीना जिर्योजिएवा ने एक ब्लॉग के जरिए महंगाई की मार को लेकर एक चेतावनी दी है, जो पूरी दुनिया की चिंता बढ़ाने वाली है।

क्रिस्टिलीना जिर्योजिएवा ने ब्लॉग के जरिए कहा कि साल 2022 मुश्किल भरा होगा और विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 साल 2023 और भी अधिक मुश्किल भरा होने वाला है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि महंगाई से लोगों को जल्द राहत नहीं मिलने वाली है। इसकी वजह से दुनिया भर के गरीब देशों के 7 करोड़ लोग गरीब हो जाएंगे।


कई देशों में समाज विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 के स्तर पर आ सकती है अस्थिरता

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के MD क्रिस्टालिना जियॉर्जिएवा ने ब्लॉग के जरिए बढ़ती हुई महंगाई का जिक्र किया है। उन्होंने चिंता जताते हुए कहा कि पूरे दुनिया भर में महंगाई उच्चतम स्तर पर बनी हुई है। वहीं रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध ने इसे और अधिक बढ़ाया है। अधिकांस गरीब देश 5% से अधिक महंगाई का सामना कर रहे हैं। आने वाले समय में महंगाई की स्थिति और बुरी हो सकती है। इसके कारण कई देशों में समाज के स्थर में अस्थिरता आ विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 सकती है।


वैश्विक ऊर्जा संकट हो सकता है ट्रिगर

क्रिस्टालिना जियॉर्जिएवा ने कहा कि यूरोप में प्राकृतिक गैस की आपूर्ति में व्यवधान कई देशों विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 की अर्थव्यवस्थाओं को मंदी की ओर ले जा सकता है, जो वैश्विक ऊर्जा संकट को ट्रिगर कर सकता है। इसके कारण 2022 मुश्किल भरा होगा और संभवत:2023 में मंदी के जोखिम बढ़ेगे। इसके साथ ही प्रमुख केंद्रीय बैंकों ने और अधिक मौद्रिक सख्ती की घोषणा की है, जो आवश्यक है लेकिन इससे महंगाई बढ़ेगी।

Modi Governmet: मोदी सरकार में रेल मंत्रालय ने बनाया रिकॉर्ड, इतनी विदेशी मुद्रा की हर साल होगी बचत

Modi Governmet: रेल मंत्रालय ने तय किया है कि साल 2023 तक पूरे रेल नेटवर्क में बिजली के इंजनों से ही ट्रेनें चलाई जाएंगी। इससे बहुमूल्य डीजल खरीदना नहीं पड़ेगा और इससे हर साल करीब 18000 करोड़ रुपए की बचत भी होगी। इसके साथ ही नई तकनीकी को लाने पर भी जोर दिया जा रहा है। जिससे ट्रेनों की रफ्तार भी बढ़ाई जा सकेगी।

PM Narendra Modi

नई दिल्ली। विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 2014 से केंद्र की सत्ता संभालने के बाद से पीएम नरेंद्र मोदी ने सरकार के लिए तमाम नए लक्ष्य तय किए थे। ये लक्ष्य न सिर्फ एक-एक कर पूरे हो रहे हैं, बल्कि नए रिकॉर्ड भी बन रहे हैं। ताजा रिकॉर्ड रेल मंत्रालय का है। यह ऐसा रिकॉर्ड है, जिससे बहुमूल्य विदेशी मुद्रा की हर साल बचत होगी।

indian-railways

रेल मंत्रालय का रिकॉर्ड ये है कि बीते 7 साल में उसने जितना रेल पटरियों का विद्युतीकरण किया है, उतना बीते 67 साल में नहीं हुआ था। आंकड़ों के मुताबिक 1947 में आजादी के बाद से 2014 में मोदी सरकार के सत्ता संभालने तक देश में महज 21614 किलोमीटर पटरियों पर ही बिजली के इंजन से ट्रेनें चलती थीं। जबकि, 2014 में नई सरकार बनने से अब तक और 24267 किलोमीटर रूट पर बिजली से ट्रेनें चलने लगी हैं।

indian-railways

रेल मंत्रालय ने तय किया है कि साल 2023 तक पूरे रेल नेटवर्क में बिजली के इंजनों से ही ट्रेनें चलाई जाएंगी। इससे बहुमूल्य डीजल खरीदना नहीं पड़ेगा और इससे हर साल करीब 18000 करोड़ रुपए की बचत भी होगी। इसके साथ ही नई तकनीकी को लाने पर भी जोर दिया जा रहा है। जिससे ट्रेनों की रफ्तार भी बढ़ाई जा सकेगी।

PM Narendra Modi

फिलहाल एलएचबी कोच वाली ट्रेन रैक में कोच में बिजली सप्लाई और एसी चलाने के लिए अलग से विदेशी मुद्रा ब्लॉग 2023 डीजल जेनरेटर लगाना पड़ता है। नई तकनीकी के तहत अब ऐसे रेल इंजन बन रहे हैं, जो ओएचई से 25000 वोल्ट करंट लेकर उसे ट्रांसफॉर्मर से स्टेप डाउन कर कोच में 250 वोल्ट की बिजली सप्लाई कर सकेंगे। इससे ट्रेनों में डीजल जेनरेटर नहीं लगाने पड़ेंगे और इससे भी काफी विदेशी मुद्रा की बचत रेलवे कर सकेगी।

आर्थिक कार्य विभाग

Economic Affairs

आर्थिक कार्य विभाग, वित्त मंत्रालय, भारतीय अर्थव्यवस्था की आंतरिक और बाहरी पहलुओं जैसे मुद्रास्फीति, मूल्य नियंत्रण, विदेशी मुद्रा प्रबंधन, सरकारी विकास सहायता हेतु घरेलू वित्त और केंद्रीय बजट की तैयारी, अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं और अन्य देशों के साथ द्विपक्षीय और बहुपक्षीय साझेदारी पर प्रभाव डालने वाले आर्थिक मुद्दों पर सलाह देने के लिए जिम्मेदार है। विभाग भारतीय आर्थिक सेवाओं के मूल ढांचे के प्रबंधन का कार्य भी करता है। आर्थिक कार्य विभाग को चौदह कार्यात्मक प्रभागों में विभाजित किया गया हैः (1) प्रशासन एंव समन्वय प्रभाग (2) सहायता, लेखा और लेखा परीक्षा, (3) द्विपक्षीय सहयोग (4) बजट (5) मुद्रा और सिक्का प्रभाग (6) आर्थिक प्रभाग, (7) वित्तीय बाजार, (8) एकीकृत वित्त प्रभाग (9) एफएसएलआरसी (10) एफएसडीसी (11) अवसंरचना एंव ऊर्जा प्रभाग, (12) निवेश प्रभाग, (13) बहुपक्षीय संस्था प्रभाग (14) बहुपक्षीय संबंध प्रभाग।

मेरीसरकार समूह को आर्थिक कार्य विभाग की विभिन्न नागरिक संबंधित गतिविधियों के लिए बनाया गया है।

रेटिंग: 4.97
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 521
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *