प्रवृत्ति पर व्यापार

पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें

पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें

नई दिल्ली: माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 8.1 को बंद करने के लिए काम कर रही है, और यूजर्स को इसके लिए रिमाइंडर भेजने की तैयारी कर रही है. माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक, कंपनी 10 जनवरी 2023 तक विंडोज के वर्जन को बंद कर देगी. अगले महीने तक, माइक्रोसॉफ्ट कटऑफ को सपोर्ट करने के लिए मौजूदा विंडोज 8.1 यूजर्स के लिए नोटिफिकेशन रोल आउट करना शुरू कर देगा.

Jan Dhan Account Se Loan Kaise Le

जन धन खाता से ऋण कैसे ले- नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि जन धन खाते से लोन कैसे लें? बैंक से लोन कैसे लें? से जुड़ी जानकारी के बारे में बताने जा रहे हैं. आपके पास यह जानकारी पूरी होनी चाहिए क्योंकि आपके लिए इस जानकारी से परिचित होना बहुत जरूरी है। तो चलिए बात करते हैं जन धन खाता से ऋण कैसे ले विवरण विस्तार से जानिए। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज के समय में बैंक से कर्ज लेना आम बात हो गई है। क्योंकि पहले जहां लोगों को बैंक से कर्ज लेने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था।

आज के समय में बैंक से आसानी से कर्ज मिल जाता है। जिसके लिए हमारे पास केवल कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए। साथ ही बैंक से लोन अब घर बैठे भी चंद मिनटों में ऑनलाइन मिल जाता है, लेकिन अभी भी कुछ ऐसे बैंक हैं। जिनसे कर्ज लेने के लिए बैंक जाना पड़ता है। अगर आप पहले भी यही उम्मीद करते हैं तो पहले बैंक से कर्ज लेने के लिए काफी ब्याज देना पड़ता था, लेकिन आज के समय में बैंक से कर्ज लेने के लिए ब्याज की जरूरत नहीं है. अगर ऐसा है भी तो ब्याज दर बहुत कम रहती है।

तो चलिए आज की पोस्ट में चलते हैं जन धन खाता कैसे खोले/ जन धन खाता से ऋण कैसे ले आदि से संबंधित पूरी जानकारी के बारे में विस्तार से जानेंगे। आपसे अनुरोध है कि इस पोस्ट को पूरा पढ़ें ताकि आप भी इस जानकारी के बारे में पूरी जानकारी जान सकें।

जन धन खाता कैसे खोले | बैंक लोन के लिए कैसे करें अप्लाई करें\

जन धन खाता से ऋण कैसे ले इसके बारे में जाने से पहले, हमें यह जानना होगा कि जन धन बैंक खाता क्या है/जन धन खाता कैसे खोले के बारे में जानना। तो आपको बता दें कि जन धन एक बैंक खाता है। जिसे हम जन धन बैंक खाता कहते हैं। जिसे बैंक में कोई भी व्यक्ति बिना किसी शुल्क के खोल सकता है। जिसमें खाता खुलवाने के बाद बैंक द्वारा कोई टैक्स नहीं काटा जाता है, भले ही वह काट लिया जाए, तो केवल मामूली राशि के लिए। बैंक लोन के लिए कैसे करें अप्लाई करें

आपको पता होना चाहिए कि भारत सरकार ने देश के सभी लोगों के लिए जन धन खाता योजना शुरू की थी। जिसका उद्देश्य भारत के सभी नागरिकों का जीरो बैलेंस खाता खोलना है। ताकि भारत के सभी लोगों का अपना बैंक खाता हो। जिसमें बच्चे से लेकर वृद्ध तक सभी के खाते खोले जाते हैं। जन धन खाता खुलवाने के बाद आप इसमें से ₹20000 तक का लोन ले सकते हैं। लगभग बहुत से लोगों को अभी तक इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन देश के गरीब लोगों को यह ऋण देकर उन्हें छोटा रोजगार शुरू करने और अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार करने का मौका दिया जाता है।

जन धन खाता से ऋण कैसे ले

जन धन खाता से ऋण कैसे ले तो चलिए जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है कि जन धन खाता क्या है और इससे लोन भी ले सकते हैं। तो अब हम जानेंगे कि जन धन खाते से लोन कैसे लिया जाता है।

यदि आपके पास बैंक खाता है, जन धन बैंक खाता। तो आप ₹20000 तक का लोन ले सकते हैं या अगर आपके पास जन धन खाता नहीं है। तो आप आज ही अपने नजदीकी बैंक में जाकर जन धन खाता खोल सकते हैं और इस ऋण का लाभ उठा सकते हैं। तो चलिए अब विस्तार से जानते हैं कि जन धन खाता से ऋण कैसे ले प्रक्रिया क्या है? इसमें कौन से दस्तावेज शामिल हैं? आदि सब कुछ विस्तार से जानेंगे।

जन धन खाते से लोन कैसे ले . के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन पत्रिका
  • मोबाइल नंबर
  • जन धन खाता पासबुक

जन धन खाता से लोन कैसे ले (बैंक से लोन कैसे ले)

यदि आप जन धन खाते से बिना ब्याज के ऋण लेना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको उस बैंक में जाना होगा (जहां आपने अपना जन धन खाता खोला है)। वहां जाने के बाद आपको जन धन ऋण के लिए आवेदन करना होगा। यह आवेदन प्रक्रिया बैंक में ही ऑफलाइन मोड के माध्यम से की जाती है। ध्यान रहे कि इसके लिए कोई ऑनलाइन प्रक्रिया नहीं है। जन धन ऋण लेने के लिए इन चरणों का पालन करें:-

  • जन धन खाते से लोन लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने जन धन बैंक की शाखा में जाना होगा।
  • जिसमें आपको अपने जरूरी दस्तावेज भी साथ ले जाने होंगे।
  • आपके आते ही। वहां आपको जन धन ऋण का आवेदन पत्र लेना होगा।
  • जन धन ऋण का आवेदन पत्र लेने के बाद आपको इसमें पूछी गई सभी जानकारी जैसे- नाम, पता, आधार संख्या, जन धन बैंक खाता विवरण आदि को ध्यान से भरना होगा।
  • फॉर्म को सही तरीके से भरने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी फॉर्म के साथ संलग्न करनी होगी और फिर आपको इन सभी कागजात को बैंक शाखा में जमा करना होगा।
  • इसके बाद अधिकारियों द्वारा आपके आवेदन पत्र और सभी दस्तावेजों की जांच की जाएगी और कुछ दिनों के बाद आपकी ऋण राशि जन धन खाते में भेज दी जाएगी।
  • जिसे आप बैंक में जाकर अपने खाते से निकाल सकते हैं। बैंक से लोन कैसे ले

Jan Dhan Account Se Loan Kaise Le, jan dhan account,mudra loan kaise le,jan dhan account se paise kaise nikale,jan dhan account kaise khole,jan dhan account kaise khole online,jan dhan account ka balance kaise check kare,jan dhan account kaise khole online 2021,mudra loan online apply kaise kare,personal loan kaise le,how to open jan dhan account,jandhan account me kitna paisa nikal sakte hai,jan dhan khate se loan kaise milega,jan dhan account overdraft facility,mudra loan kaise lena hai

ट्रेडिंग के 10 महत्वपूर्ण नियम | Top 10 things Remember before Start Trading

trading_rule_in_hindi

यदि कोई व्यक्ति शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने की सोच रहा है तो उसे मार्केट में उतरने से पहले मन में कुछ आवश्यक बातें ध्यान रखना चाहिए। तभी जाकर एक अच्छा और प्रॉफिटेबल ट्रेडर बन सकते है. वो कोन सी ख़ास प्वाइंट हैं, चलिए हम विस्तार से जानते हैं.

Table of Contents

कुछ ख़ास बातें :

  • ट्रेडिंग को बिज़नेस के तौर पर लें ना की शौक और नौकरी जैसे.
  • इस बिज़नेस को चलाने के लिए हमेशा लर्निंग पर फोकस करें.
  • एक ट्रेडिंग सेटअप बनाएं.
  • ट्रेडिंग में अनुशासन हमेशा बनाए रखें.
  • अपना लक्ष्य निर्धारित रखें.

नीचे दिए गए प्रत्येक प्वाइंट महत्वपूर्ण है. इसे ध्यान पूर्वक समझे और ट्रेडिंग के दौरान इसे फ़ॉलो करें. जब आप इन सभी बातों को ध्यान में रखकर ट्रेडिंग करेंगे तब जाकर आप एक सफल ट्रेडर होने की संभावना रख सकते हैं।

हमेशा एक ट्रेडिंग सेटअप बनाएं

एक ट्रेडिंग प्लान में हम अपने ट्रेडिंग एंट्री प्वाइंट, एक्जिट प्वाइंट, स्टॉपलॉस और मनी मैनेजमेंट जैसे बातों को ध्यान में रख सकते हैं। इसके साथ ही स्टॉक के चार्ट को ध्यान से समझें कि पिछले परफॉर्मेंस कैसे रहे हैं. तभी स्टॉक में एंट्री लेने का विचार बनाएं।

ट्रेडिंग को बिज़नेस के तौर पर लें

यदि आप एक अच्छा ट्रेडर बनने की सोच रहे हैं तो इसे फुल- टाईम और पार्ट- टाईम बिज़नेस लें. ट्रेडिंग को शौक और जॉब के तरीके ना करें. यदि इसे शौक में करते हैं तो आप इसमें कोई भी चीज़ सीख नहीं पाएंगे और यदि इसे एक नौकरी के तौर पर करेंगे तो आप परेशान हो जाएंगे. क्योंकि इसमें कोई नियमित सैलरी नहीं मिलेगी. ट्रेडिंग को एक व्यवसाय के अनुसार लीजिए. क्योंकि इसमें खर्चे, नुकसान, टैक्स, चिंता और जोखिम जैसे कई अन्य चीजें सामिल होते हैं.

बेहतर टेक्नोलॉजी का प्रयोग करें

ट्रेडिंग एक ऐसा बिज़नेस है जहां पर आपको हर रोज स्टॉक मार्केट से संबंधित समाचारों से अपडेट रहना होगा. जिस भी स्टॉक में आप ट्रेड करना चाहते हैं. उससे जुड़ी जानकारी आप एकत्रित करते रहे और रोजाना, सप्ताहिक और मासिक चार्ट पेटर्न को ध्यान पूर्वक देखते रहे ताकि आपको पता लग सके की मार्केट का रुझान कैसा है. मार्केट में शेयर की प्राइस ऊपर जा रही है या फिर नीचे गिर रही है. ये सभी जानकारी आप अपने स्मार्टफोन या पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें फिर कंप्यूटर के माध्यम से जान सकते हैं. इसके लिए आपके पास एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन भी होना चाहिए. जिसे ट्रेड बिना किसी रूकावट के कर सकते हैं.

अपनी ट्रेडिंग पूंजी को सुरक्षित रखें

ट्रेडिंग करते वक्त ध्यान में रखे कि जो भी पूंजी हम लगा रहे हैं वो सुरक्षित बनी रहें. यानी कि अपनी ट्रेडिंग पूंजी को ऐसा विभाजित करना है. जिससे आगे चलकर हमें ट्रेडिंग में कोई दिक्कत ना हो. एक दिन में उतना ही ट्रेडिंग करिए जितना आप जोखिम उठा सकते हैं. क्योंकि ओवर ट्रेडिंग करने से कुल पूंजी डूब सकती है. यदि एक दिन में एक से दो ट्रेड में लॉस होता है तो ओवर ट्रेडिंग नहीं करना है. यदि आप अपने लॉस को रिकवर करने की सोचेंगे तो गुस्से की वजह से दोबारा लॉस कर बैठेंगे. इससे आप मार्केट में ज्यादा दिन तक टिक नहीं पाएंगे. क्योंकि ज्यादातर नए ट्रेडर यही गलती करते हैं.

केवल उतना जोखिम उठाएं जितना हो सके

यदि आप ट्रेडिंग करने की सोच रहे हैं तो कभी भी ट्रेडिंग के लिए लोन या फिर किसी से उधार लेकर ट्रेडिंग ना करें क्योंकि इसे आप काफी जोखिम में पड़ सकते हैं. आपको अपने ट्रेडिंग अकाउंट में उतना ही पैसा जमा करना है. जितना आप सहन कर सकते हैं. क्योंकि इसमें आप पैसे को दोगुना तो कर सकते हैं. लेकिन आपकी एक भी लापरवाही से पूरे पैसे डूब भी सकते हैं. इसलिए कभी भी आपको उस पैसे का उपयोग नहीं करना है. जो आपने बच्चों की फीस, किसी जरूरी काम के पैसे या फिर किसी भी चीज की किस्त जमा करने के लिए बचा रखे हैं. स्टॉक मार्केट में 90 फीसद लोग अपना पैसा गवा देते हैं. क्योंकि बिना सीखे वे ट्रेडिंग करना शुरू कर देते हैं.

हमेशा स्टॉप लॉस का प्रयोग करें

ट्रेडिंग करते वक्त हमेशा स्टॉप लॉस का प्रयोग करें. स्टॉप लॉस एक ऐसा ऑप्शन है जिसकी मदद से आप अपने रिस्क को मैनेज कर सकते हैं. स्टॉप लॉस सभी ब्रोकर के द्वारा प्रदान किया जाता है. इस ऑप्शन की मदद से अपने लॉस को निर्धारित कर सकते हैं. यदि आप एक अच्छा ट्रेडर बनना चाहते हैं तो हमेशा स्टॉप लॉस का प्रयोग करें. ज्यादातर नए ट्रेडर इस ऑप्शन को या तो जानते नहीं है या फिर जानते हैं तो वे इसका उपयोग नहीं करते हैं. क्योंकि उन्हें स्टॉपलॉस हिट होने का डर होता है. जिसकी वजह से अपना पूरा पूंजी डूबा देते हैं.

स्टॉक मार्केट के ट्रेंड को समझें

शेयर लेते समय हमेशा बाजार के रुझान को समझें कभी भी मार्केट के विपरीत में न जाएं. इससे भी आप का भारी नुकसान हो सकता है.

ट्रेडिंग में अनुशासन हमेशा बनाए रखें

ट्रेडिंग करते वक्त अनुशासन सबसे अहम भूमिका होता है. स्टॉक मार्केट खुलने का समय सुबह 9:00 बजे और बंद 3:30 बजे होता है. यदि आप एक फुल–टाइम या फिर पार्ट– टाइम ट्रेडिंग करते हैं तो उस वक्त आपका पूरा कंसंट्रेशन ट्रेडिंग पर होना चाहिए. ट्रेडिंग करते वक्त यदि आपका ध्यान किसी ओर भी काम पर हैं, तो आपको ट्रेडिंग में दिक्कतें आ सकती हैं. खासकर इंट्राडे ट्रेडिंग करने वालों के लिए क्योंकि इसमें आपको हर 5 और 15 मिनट के टाइम फ्रेम में चार्ट देखना होता है. ट्रेडिंग में कई प्रकार के टेक्निकल एनालिसिस इंडिकेटर्स प्रयोग किए जाते हैं. जिनके मदद से आप अपना ध्यान केंद्रित कर अच्छा प्रॉफिट बना सकते हैं.

छात्रों की तरह शेयर बाजार से सीखने और समझने पर ध्यान दें

स्टॉक मार्केट में आप किसी ट्रेड से पैसे बना पाए या फिर ना बना पाए. लेकिन मार्केट के ट्रेड से कुछ सीखने का प्रयोग जरूर करें. आगे चलकर आने वाले ट्रेड्स में इसका इस्तेमाल करें और फिर देखें जो भी स्ट्रेटेजी लगाई है कितना सही और कितना गलत है. इससे आप अपने ट्रेडिंग को बेहतर बना सकते हैं. आप जो भी स्ट्रेटेजी अप्लाई करते हैं उसका नोट जरूर बनाए. इससे आपको यह मालूम चलेगा कि आपने जो भी स्ट्रेटेजी नोट किया उनमें से कौन से पॉइंट काम कर रहे हैं और कौन सी पॉइंट नहीं कर रहे हैं.

इमोशन को कंट्रोल में रखें

ट्रेडिंग करते वक्त अपने इमोशन को कंट्रोल में रखें. क्योंकि ज्यादातर युवा जब ट्रेडिंग करते हैं तो उनको नुक्सान हो जाता है. जिसे काफी गुस्सा भी आता है. जिसकी वजह से प्रॉफिट को रिकवर करने के लिए बार-बार ट्रेडिंग करते हैं और लॉस को बढ़ाते चले जाते हैं. एक बात ध्यान रखें कि आप अपना गुस्सा मार्केट पर नहीं निकाल सकते. इसलिए यदि आपको दो से अधिक लॉस होते हैं तो उस दिन के लिए आप अपना ट्रेडिंग बंद कर दें नहीं तो इमोशन में आकर आप अपने पूंजी को भी डूबा सकते हैं.

नोट: ट्रेडिंग में कैरियर बनाना कठिन तो है, लेकिन परिश्रम, मेहनत और निरंतर अभ्यास करने वालों के लिए कोई भी चीज कठिन नहीं होती है. यदि आप अपनी गलतियों को नियंत्रित सुधारते हैं और नए-नए ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी को बनाते रहते हैं तो ट्रेडिंग आपके लिए बिल्कुल आसान हो जाएगा। यदि स्टॉक मार्केट से लंबा रकम बनाना है तो मेहनत तो करना ही पड़ेगा.

Q. ट्रेडिंग कैसे शुरू करे?

Ans. ट्रेडिंग शुरू करने से पहले शेयर बाजार के बारे में, टेक्निकल एनालिसिस, कैंडल स्टिक पैटर्न जैसे कई अन्य जानकारी इकट्ठा करे. इसके बाद पहले small quantity से स्टॉक में ट्रेडिंग करे. जब आपको थोड़ा बहुत मार्केट का ज्ञान हो जाए फिर अपने risk के अनुसार quantity को बड़ा सकते है.

Q. ट्रेडिंग में लॉस से कैसे बचें?

Ans. ट्रेडिंग में loss से बचने के लिए हमेशा stop loss का प्रयोग करें. इसके साथ अपने risk के अनुसार ट्रेंड में capital लगाएं.

Q. शेयर मार्केट का रूझान कैसे पता लगाएं?

Ans. मार्केट का रूझान पता करने के लिए Global Market, FII और DII पिछले दिन का चार्ट जैसे market Open, Close, High, Low आदि जानकारी इकट्ठा करना होगा.

अपस्टॉक्स क्या है Upstox से पैसे कैसे कमाते हैं

0 आशुतोष नायक (Editor) अगस्त 22, 2021

अपस्टॉक्स (Upstox) एक जाना माना ऑनलाइन स्टॉक ब्रोकर ऐप है. जो शेयर मार्केट या शेयर बाजार से पैसे कमाने का एक मुख्य जरिया है। अपस्टॉक्स (Upstox) के जरिए आप अपना ट्रेडिंग अकाउंट और डीमेट अकाउंट खुलवा सकते हैं। और फिर स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग या इन्वेस्ट कर सकते हैं, और फिर स्टॉक मार्केट से अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। अपस्टॉक्स (Upstox) में अब तक 30 लाख से भी ज्यादा ग्राहकों की मौजूदगी है। यानी कि भारत के करीब 30 लाख लोग अपस्टोक्स (Upstox) के जरिए शेयर बाजार में इन्वेस्ट या ट्रेड कर रहे हैं। इसके अलावा आप अपस्टॉक्स (Upstox) के जरिए म्यूचुअल फंड या डिजिटल गोल्ड, करेंसी आदि में भी इन्वेस्ट और ट्रेड कर सकते हैं।

आपको बता दें कि Upstox पीछे कई इन्वेस्टर लगे हुए हैं। जो शेयर बाजार में काफी अच्छी जानकारी रखते हैं। अपस्टोक्स को शुरू करने के लिए इन्हीं इन्वेस्टर ने पैसा लगाया हुआ है। यहां हम आपको बताएंगे कि Upstox से आप कैसे पैसे कमा सकते हैं। लेकिन इसके पहले आप यह अच्छे से जरूर जान लें कि आखिर अपस्टॉक्स क्या है?

अपस्टॉक्स Upstox क्या है

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है की अपस्टॉक्स (Upstox) एक ऑनलाइन स्टॉक ब्रोकर कंपनी है। जो लोगों को ऑनलाइन पैसे इन्वेस्ट या ट्रेड करने की सेवा प्रदान करती है। इस कंपनी की शुरुआत साल 2006 में हुई थी। जबकि अपस्टॉक्स (Upstox) का हेड क्वार्टर मुंबई के महाराष्ट्र में है। इसके अलावा अपस्टॉक्स (Upstox) के देश में अन्य कार्यालय अलग-अलग शहरों जैसे अहमदाबाद, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद और कोलकाता में भी मौजूद हैं। अप स्टॉक्स (Upstox) के संस्थापक जिग्नेश शाह हैं, और यही इस कंपनी के सीईओ भी हैं। इस कंपनी में करीब 1000 से ज्यादा लोग काम कर रहे हैं।

अपस्टॉक Upstox से पैसे कैसे कमाए

अब हम जानते हैं कि हम Upstox App से पैसे कैसे कमा सकते हैं। वैसे तो अप स्टॉक्स मुख्यतः स्टॉक मार्केट के जरिए ही पैसे कमाने का मौका देता है, लेकिन इसके अलावा आप दो और तरीकों से अपस्टॉक्स के जरिए पैसा कमा सकते हैं। जिसमें आप इन्वेस्ट या ट्रेडिंग करके पैसा कमा सकते हैं। तो वहीं दूसरा रेफरल के जरिए भी पैसा कमा सकते हैं।

Upstox से ट्रेडिंग या Investing करके पैसे कैसे कमाए

जैसा कि आपको मालूम है कि आप स्टॉक एक ऑनलाइन स्टॉक ब्रोकर है, जो आपकी शेयर को खरीदने और बेचने में आपकी मदद करता है, या शेयर खरीदने या बेचने के लिए एक महत्वपूर्ण प्लेटफार्म है। यहां पर आप शेयर को खरीद कर और बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं। यह पहला तरीका है। जिससे आप अपस्टॉक्स (Upstox) के जरिए पैसा कमा सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको शेयर बाजार के बारे में बेसिक जानकारी होनी बहुत ही जरूरी है, और शेयर बाजार से जुड़े तमाम terms कि आपको जानकारी होनी बहुत ही जरूरी है।

हमारी राय से आपको पहले शेयर बाजार के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए कि, शेयर बाजार क्या है और यह कैसे काम करता है। या फिर शेयर बाजार से आप पैसे कैसे कमाते हैं। यह सब जानने के बाद ही आप पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें इसमें निवेश या ट्रेड करें ताकि आपका कम से कम नुकसान हो, और ज्यादा से ज्यादा आपको इसका फायदा मिले।

Upstox से रेफरल से पैसे कैसे कमाते हैं?

इसके अलावा आप Upstox से रेफरल के जरिए भी अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। कई लोग हैं जो दूसरे लोगों को केवल सजेस्ट Referral करके ही लाखों रुपए कमा रहे हैं। ऐसे में आप भी अपस्टॉक्स के रेफरल के जरिए अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। जिसमें आपको ज्यादा जानकारी करने की भी आवश्यकता नहीं होती, बल्कि आपको केवल और केवल अपने दोस्तों और रिश्तेदारों या फैमिली मेंबर को अपस्टॉक्स app डाउनलोड कराना होता है। और उनका एकाउंट खुलवाना होता है। यदि आपके आसपास भी कुछ लोग शेयर मार्केट में निवेश या ट्रेड करना चाहते हैं। तो आप उन्हें Upstox की जानकारी दे सकते हैं। लेकिन यहां खास बात यह है कि आपको भी Upstox पर सबसे पहले अपना डीमेट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना होगा।। इसके बाद ही आप इसके ऑप्शन में जाकर माय अकाउंट (my account) में रेफर एंड अर्न Reffer and Earn) का ऑप्शन चुन के लोगों को अपना रेफर लिंक शेयर कर सकते हैं। और पैसा कमा सकते हैं।

अपस्टॉक्स (Upstox) में ऑनलाइन डीमेट अकाउंट खोलना एकदम मुक्त होता है। जिसे कोई भी ज्वाइन कर सकता है। अपस्टॉक्स पर डीमेट अकाउंट खुलवाने के बाद आप किसी को भी अपना रेफर लिंक शेयर कर सकते हैं, और आपको प्रत्येक रेफर पर ₹500 की कमीशन मिलती है। जितनी ज्यादा आप इसमें मेंबर जुड़ेंगे आपको ₹500 के हिसाब से उतना ही ज्यादा रेफरल कमाई होगी।

आशा करते हैं कि आपको अब यह पता चल गया होगा, कि अपस्टोक्स क्या है और अब Upstox से पैसा कैसे कमाते हैं।

शेयर बाजार के फायदे और नुकसान

शेयर बाजार के फायदे और नुकसान

हैलो दोस्तो शेयर बाजार के बारे में तो आप सभी ने जरूर सुना होगा। कुछ लोग तो शेयर बाजार के बारे में अच्छी तरह जानते ही होंगे। लेकिन आपको शेयर बाजार बारे में बहुत अच्छा जानकारी होना आवश्यक है। नही तो आपको शेयर बाजार के फायदे और नुकसान के बारे मे नही पता चलेगा। तो चलिए आज हम जानते है, शेयर बाजार के फायदे और नुकसान के बारे में।

शेयर बाजार के फायदे

1. कम समय में ज्यादा रिटर्न :- बांड्स और फिक्स्ड डिपॉजिट्स जैसे अन्य इन्वेस्टमेंट से तुलना की जाये तो शेयर बाजार निवेशकों को सही रूप से कम समय में अधिक रिटर्नदेता है। लेकिन आपको शेयर बाजार के नियमो को फॉलो करना पड़ेगा। और धैर्यवान होने से रिटर्न अच्छा मिलेगा।

2. कोई समय सीमा नहीं :- शेयर मार्किट एक सप्ताह के अन्दर 5 दिन और हर दिन 6 घंटे चलता है। और आप अपनी मर्जी के हिसाब से निवेश कर सकते है। बस आपके पास अच्छा इन्टरनेट होना चाहिए।

3. लाभ में हिस्सा :- कंपनी जितना ज्यादा लाभ कमाती है। उसके शेयर धारक को उसी हिसाब में रिटर्न के रूप में लाभांश देती है। इस तरीके से एक निवेशक को शेयर से मिलने वाला सबसे बड़ा लाभ कंपनी के द्वारा लाभ में दिया जाने वाला हिस्सा है।

शेयर बाजार के नुकसान

1. शेयर बाजार ऊपर नीचे होना :- कभी शेयर बाजार ऊपर बढ़ता है, तो कभी अचानक नीचे गिरने लगता है। ऐसे में कितने दफा तो गिरावट की वजह से निवेशकों को काफी नुकसान भी उठाना पड़ जाता है।

2. बिना सीखे निवेश करना :- शेयर बाजार में लोगो को नुकसान होने का पहला और सबसे बड़ा कारण है। जानकारी का अभाव कई बार लोग शेयर बाजार में निवेश से पहले शेयर बाजार के बारे में कुछ भी नहीं जानते, बिना ठीक से कुछ जाने निवेश कर देते है। और फिर उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है।

3. निवेश का समय :- शेयर बाजार अच्छा रिटर्न पाने के लिए निवेश के बारे में जानना तो जरूरी है ही साथ ही किस समय पर निवेश करना है उसकी जानकारी भी होनी चाहिए। नही तो नुकसान पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें का खतरा बना रहता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान

( फायदे ) इंटरनेट के साथ साथ आनलाइन ट्रेडिंग की पहुंच बढ़ने से अब शेयर बाजार में घर बैठे पैसे लगाना और लाभ कमाना बहुत आसान हो गया है। आपको स्टॉक की भविष्यवाणी एक दिन के लिए करनी होती है जो आपको बेहतर गुणवत्ता प्रदान करती है।

( नुकसान ) लोग ऐसा मानते है कि इंट्राडे ट्रेड में खतरा अधिक होती है। जबकि खतरा सभी मे समन होती है। इंट्राडे ट्रेडिंग में समय न दे पाना इसे ज्यादे रिस्की बनाती है। यदि आप अपने शेयर के साथ समय बिताते हैं तो खतरा कम रहता है।

स्विंग ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान

( फायदे ) स्विंग ट्रेडर्स बहुत कम समय में मूल्य परिवर्तन से लाभ कमाने की कोशिश करते हैं। स्विंग ट्रेडिंग के इस रूप में लगभग 5% से 10% तक का अच्छा रिटर्न मिलता है। दूसरी बात इसमें आपको पूरा दिन या लगातार अपने कंप्यूटर पर बैठने की आवश्यकता नहीं होती है।

( नुकसान ) स्विंग ट्रेडिंग मे यदि आप लोग अच्छे स्टॉक को नही चुन पाएंगे तो आपको लोस ही होगा क्यूकी इस ट्रेडिंग मे अच्छे स्टॉक को चूनना बहुत जरूरी होता है। ताकी आप लोग ज्यादा दिन तक अच्छी तरह से शेयर मे निवेश कर सके।

शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान

( फायदे ) वैसे तो शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग मे अगर आप पुरी जानकारी के साथ शेयर में निवेश करेंगे और सही कंपनी स्सिलेक्ट करोगे तो आप अपने लॉस ओर प्रॉफिट को अच्छी तरह से देख पाएंगे।

( नुकसान ) शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग को अगर आप किसीके कहने पर या विज्ञापन देखकर किसी शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग को खरीद लेते हो तो आपको पक्का लॉस ही होने वाला है। क्युकी आप जिस किसी भी शेयर को खरीदते है, तो उस कंपनी के बारे पूरी जानकारी नहीं जान पाते।

लॉंग टर्म ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान

( फायदे ) लॉंग टर्म ट्रेडिंग मे अगर आप कोई अच्छा शेयर रिसर्च करके सिलेक्ट करेंगे तो आपको बहुत ज्यादा प्रॉफिट भी हो सकता है। इसके लिए आपको शेयर बाजार के बारे मे सभी जानकारी होनी चाहिए तब आप अच्छा लाभ उठा सकते हो।

( नुकसान ) लॉंग टर्म ट्रेडिंग मे अगर आप कोई अच्छा शेयर रिसर्च करके नही सिलेक्ट करेंगे तो आपको बहुत ज्यादा नुकसान उठाना पड़ सकता है। इस लिए सही जानकारी के साथ ही लॉंग टर्म ट्रेडिंग में निवेश कीजिए गा।

शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स

A. अपने निवेश का रिस्क मैनेजमेंट करे।
B. शेयर बाजार में अच्छे शेयरों का चुनाव करें।
C. निवेश करने से पहले कंपनी को अच्छी तरीके से जान लें।
D. पारिवारिक और आर्थिक स्थिति को जोखिम में ना डालें।
E. लोन लेकर या किसी से उधर लेकर कभी शेयर बाजार में निवेश ना करें।
F. निवेश करने से पहले शेयर बाजार को सीखने की कोशिश करें।
G. शेयर बाजार में पैसे भले ही कम लेकिन समय ज्यादा निवेश करें।
H. शेयर बाजार मे अधिक समय के लिए निवेश करें।

निष्कर्ष :-

शेयर बाजार के अंदर निवेशक, बजट और उससे जुड़ी खबरों का कंपनियों पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है। कई बार कुछ शेयर लोगो की अपवाहो पर ही अपनी प्रतिक्रिया दे ते हैं। केवल पूर्वानुमानों पर शेयरों में निवेश करने पर खतरनाक साबित हो सकता है।

नमस्ते दोस्तों आपका स्वागत है आपको इस website पर शेयर मार्केट, म्यूचल फंड, शेयर प्राइस टारगेट, इन्वेस्टमेंट,से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी रिसर्च के साथ हिंदी मे दी जाएगी

Microsoft ने Windows 8.1 बंद करने का किया ऐलान, ये है यूज करने की आखिरी तारीख


नई दिल्ली: माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 8.1 को बंद करने के लिए काम कर रही है, और यूजर्स को इसके लिए रिमाइंडर भेजने की तैयारी कर रही है. माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक, कंपनी 10 जनवरी 2023 तक विंडोज के वर्जन को बंद कर देगी. अगले महीने तक, माइक्रोसॉफ्ट कटऑफ को सपोर्ट करने के लिए मौजूदा विंडोज 8.1 यूजर्स के लिए नोटिफिकेशन रोल आउट करना शुरू कर देगा.

कंपनी की ओर से आने वाले नोटिफिकेशन ठीक वैसे ही होंगे जैसे विंडोज 7 के बचे हुए अपडेट के दौरान जारी किए गए थे, जो यूजर्स को कंपनी की ओर से एंड-ऑफ-सपोर्ट के लिए मिले थे. माइक्रोसॉफ्ट ने 2016 में विंडोज 8 का सपोर्ट बंद कर दिया था, जबकि विंडोज 8.1 उस समय भी चल रहा था. अब कंपनी ने जनवरी तक सपोर्ट को पूरी तरह बंद करने का फैसला किया है.

बंद करने के साथ-साथ, Microsoft जनवरी के बाद विंडोज 8.1 के लिए एक एक्सटेंडेड सिक्योरिटी अपडेट की पेशकश भी नहीं करेगा- जिसका मतलब ये हुआ कि अडिशनल सिक्योरिटी पैच के लिए भुगतान नहीं करना पड़ेगा. जान लें कि कई विंडोज 8.1 मशीन लेटेस्ट विंडोज़ 11 का सपोर्ट करने में सक्षम नहीं होंगी. माइक्रोसॉफ्ट ने कहा- इसकी वजह CPU की रिस्ट्रिक्शन हैं.

यह भी पढ़ें | उत्तराखंड: कैबिनेट ने आजीवन कारावास की अवधि 14 साल करने का ऐलान किया

यूज़र्स तय करें अपग्रेड करना है या नया PC खरीदना है…
इसका मतलब ये है कि विंडोज 8.1 को सपोर्ट करने वाला एकमात्र अपडेट विंडोज 10 होगा जो यूजर्स के लिए एकमात्र अपग्रेड का ऑप्शन होगा, ताकि यूज़र अपनी मशीनों को किसी भी मैलवेयर से बचा सकें. इसका मतलब ये हुआ कि विंडोज 8.1 यूजर्स को अब ये तय करना होगा कि अपने ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करना है या नया पीसी खरीदना है.

विंडोज 10 को लेकर जानकारी मिली है कि ये 14 अक्टूबर 2025 तक काम करना और सपोर्ट करना जारी रखेगा. बता दें कि Microsoft ने अपनी वेबसाइट पर FAQ पूछे जाने पहले ट्रेडिंग से जुड़ी बातें जान लें वाले सवालों की एक लिस्ट जारी की है, जिसमें लोगों के बदलाव के बारे में कई सवालों को संबोधित किया गया था. इसमें ये भी डिटेल है जनवरी 2023 के बाद अगर आप Windows 8.1 का इस्तेमाल करना जारी रखते हैं तो क्या होगा.

रेटिंग: 4.75
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 849
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *