ट्रेडिंग विचार

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है

Intraday Trading क्या होती है (संपूर्ण जानकारी) | Intraday Trading कैसे करे 2022

आज के समय में शेयर मार्केट से काफी लोग जुड़ रहे है। कोरोना महामारी के बाद से लोगो में इसके प्रति काफी लगाव देखा गया है। शेयर मार्केट में आप दो ही तरीके से पैसे कमा सकते है या तो आप इन्वेस्टमेंट कर सकते है या फिर इंट्राडे ट्रेडिंग। आज के इस आर्टिकल में हम आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में बताएंगे। इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है क्या होता है इंट्राडे ट्रेडिंग? इससे कैसे पैसे कमाए, इसके फायदे और नुकसान। सबकुछ जानेंगे हम इस आर्टिकल में। तो आईए सबसे पहले intraday ट्रेडिंग के बारे में जान लेते है।

Table of Contents

Intraday Trading क्या होती है

जैसा की आप जानते ही होंगे की शेयर मार्केट में हम शेयर की खरीद-बिक्री करते है। शेयर मार्केट में लोग कम दाम में शेयर खरीद के उसे दाम बढ़ने पर बेच कर पैसे कमाते है। आप खरीदे हुए शेयर को या तो तुरंत बेच सकते है या फिर आप जब चाहे तब बेच सकते है। अगर आप शेयर को आज खरीद कर आज ही बेच देते है तो इसे ही intraday ट्रेडिंग कहते है।

अगर आप खरीदे शेयर को आज के अलावा किसी और दिन बेचते है तो उसे डिलीवरी कहते है। Intraday trading के अपने फायदे और नुकसान है। लेकिन सही से ट्रेडिंग करके आप इसमें अच्छा पैसा बना सकते है। आईए सबसे पहले हम Intraday ट्रेडिंग करना जान लेते है। इसके बाद इसके फायदे और नुकसान को देखेगे।

Intraday Trading कैसे करे

Intraday trading इन्वेस्टमेंट की तुलना में काफी रिस्की होता है। इसलिए भी इसमें कदम रखने से पहले अच्छे से अपना सेटअप तैयार रखे। जैसे स्टॉपलॉस, टारगेट, शेयर सिलेक्शन इत्यादि। आपको Intraday trading करने के लिए निम्नलिखित बातो का ध्यान रखना चाहिए:-

  • सबसे पहले एक अच्छा लिक्विफाइड स्टॉक चुने। लिक्विफाइड का मतलब ऐसे स्टॉक से है जिसमे अच्छा खासा वॉल्यूम और मूवमेंट हो।
  • इसके बाद आप एंट्री प्राइस और टारगेट सेट करे। और साथ ही में स्टॉप लॉस लगाना न भूलें। स्टॉपलॉस आपको अधिक लॉस होने से बचाता है।
  • आप अलग अलग तरह के इंडिकेटर का इस्तमाल कर सकते है। यह आपको स्टॉक के मूवमेंट से जुड़ी जानकारी देंगे। जैसे RSI, Volume chart इत्यादि।
  • आप रिस्क रिवार्ड को हमेशा ध्यान में रखकर ही ट्रेडिंग करे। जितना रिस्क कम उतना अच्छा है। कभी भी लालच न करे हमेशा धैर्य बनाए रखे।
  • अब जब आप intraday ट्रेडिंग करना सीख चुके है तो आईए अब intraday ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान के बारे में जान लेते है।

इन्हें भी पड़े :

Intraday Trading के फायदे

Intraday ट्रेडिंग के बहुत सारे फायदे है। इसका सही से उपयोग करके आप इसमें अच्छा खासा पैसा कमा सकते है। आईए इसके फायदे को देखते है।

जहा एक और इन्वेस्टमेंट के जरिए आप महीनो और सालो में पैसे कमाते है तो वही Intraday trading की मदद से आप कुछ ही घंटो या मिनटों में पैसे कमा सकते है।

Intraday trading में आप मार्केट में कम समय देकर ज्यादा पैसे कमा सकते है। इसके साथ ही आपका पैसा भी इसमें फसा नही रहता है।

Intraday ट्रेडिंग के लिए बहुत से ब्रोकर आपको मार्जिन फैसिलिटी देते है, जिसका मतलब है की आप थोड़े पैसे में ही बहुत सारा शेयर खरीद बेच सकते है। इसके मदद से आप अच्छा खासा पैसे बना सकते है।

Intraday Trading के नुकसान

जैसा की आप जानते ही होंगे की हर चीज का फायदा और नुकसान दोनो ही होता है। किसी भी चीज के नुकसान से बचने का सबसे अच्छा तरीका है की उसे अच्छे से जाने। तो आईए अब आपको Intraday ट्रेडिंग के नुकसान के बारे में बताते है। इसे अच्छे से समझे ताकि आप नुकसान से बच सके।

Intraday trading में आपको शेयर एक ही दिन में खरीदना और बेचना होता है, इस वजह से आपके लॉस की संभावना अधिक हो जाती है।

बहुत ज्यादा मार्जिन के प्रयोग की वजह से छोटे सा लॉस भी आपके लिए बहुत बड़ा लॉस साबित हो जाता है। इसलिए मार्जिन का सही से उपयोग करे।

कई बार intraday trading में अप्पर सर्किट या फिर लोअर सर्किट लग जाने की वजह से आप इसमें फस जाते है। इसलिए पोजिशन को सही समय पर एग्जिट कर दे।

Intraday trading में डिलीवरी की तुलना अधिक ब्रोकरेज इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है देना परता है। इसलिए ट्रेडिंग सही से करे।

अब जब आप Intraday ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान को भली भाती जान चुके है तो आइए अब आपको बताते है की intraday ट्रेडिंग को कैसे सीखा जा सकता है। अगर आप इसे सीख के ट्रेडिंग करेंगे तो ज्यादा चांसेज है की आप फायदे में रहेंगे।

Intraday trading कैसे सीखे

अगर आप Intraday ट्रेडिंग सीखना चाहते है तो इसके लिए आप यूट्यूब का सहारा ले सकतें है। यूट्यूब पे आपको ढेरो लर्निंग विडियोज मिल जायेंगे। इसके अलावा आप बुक्स का भी सहारा ले सकते है। इन बुक्स के मदद से आप Intraday ट्रेडिंग को आसनी से सीख सकते हैं। कुछ फेमस बुक्स के नाम इस प्रकार है:

इंट्राडे ट्रेडिंग की पहचान

ट्रेडनिति – कैसे बने सफल प्रोफेशनल ट्रेडर

रिच डैड पूअर डैड

A टू Z शेयर मार्केट (इंट्राडे ट्रेडिंग)

इंट्राडे ट्रेडिंग की पहचान

ऊपर में हमने कुछ बुक्स में नाम दिए है आप इन बुक्स को पढ़ कर इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में सीख सकते है। ये सारे बुक्स हिंदी में है, इसे आप आसानी से पढ़ कर समझ सकते है। इसके बाद जब आप intraday को अच्छे से समझ ले तब आप इसका प्रैक्टिकल करने के लिए पेपर ट्रेडिंग कर सकते है। आईए अब आपको पेपर ट्रेडिंग के बारे में बताते है।

पेपर ट्रेडिंग क्या है?

पेपर ट्रेडिंग एक तरह का सिमुलेटर है जिसके मदद से आप बिना पैसे लगाए ट्रेडिंग कर सकते है। इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है यह एक तरह का वर्चुअल ट्रेडिंग होता है। इसके मदद से आप बिना पैसे लगाए ट्रेडिंग का अभ्यास कर सकते है। आपको इंटरनेट पर बहुत सारे ऐप और वेबसाइट मिल जाएंगे जो आपको वर्चुअल ट्रेडिंग के माध्यम से पेपर ट्रेडिंग की सुविधा उपलब्ध कराते है। आप चाहे तो स्काट्रेड, फिडेलिटी जैसे पेपर ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का प्रयोग कर सकते है।

Intraday ट्रेडिंग में किन बातों का रखे ध्यान

Intraday ट्रेडिंग पूरी तरह से मार्केट के मूव पर निर्भर करता है। इसमें आप जहा एक दिन में ही पूरे महीने की सैलरी कमा सकते है तो वही पूरे महीने की सैलरी गवा भी सकते है। यह हाई रिस्क वाला काम है। इसे बिना सीखे कभी ट्राय नही करना चाहिए। शुरू में आप कम कैपिटल के साथ इसको आजमा सकते है। धीरे धीरे जब आप मार्केट को अच्छे से समझ जाए तब इसमें बड़े अमाउंट से ट्रेडिंग करे। अपना कैपिटल हमेशा बचा के रखे, अपना इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है मूल धन इसे कभी नही खोए।

निष्कर्ष :

दोस्तो, आज के इस आर्टिकल में हमने शेयर मार्केट के अंतर्गत आने वाले intraday trading के बारे में जाना। Intraday क्या है, Intraday Trading कैसे करे, Intraday Trading फायदे और नुकसान। अगर आपको यह आर्टिकल “Intraday Trading“ फायदेमंद लगा हो तो इसे जरूर शेयर करे। इसके साथ ही किसी तरह के सवाल के लिए आप नीच कमेंट कर सकते है। हम आपकी मदद करने की कोशिश करेंगे। ऐसे ही बेहतरीन और जानकारी से भरे आर्टिकल के लिए आप हमारे वेबसाइट से जुड़े रहे।

How to make money in intraday trading

इंट्राडे ट्रेडिंग दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली ट्रेडिंग है। यह भी सबसे अस्थिर और तनावपूर्ण में से एक है। यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमाना चाहते हैं, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप जानते हैं कि नुकसान से बचने और अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखने के लिए क्या करना पड़ता है।

Table of Contents

जोखिमों को जानें

निवेश का जोखिम नुकसान की संभावना है। यह अनिश्चितता से अलग है, जो भविष्य की घटनाओं या परिणामों के बारे में ज्ञान की कमी है जिसके परिणामस्वरूप कुछ होने (या नहीं होने) की संभावना होती है। जोखिम भी समय और अस्थिरता का एक कार्य है, या समय के साथ आपकी संपत्ति में कितना उतार-चढ़ाव होता है।

जब आप स्टॉक या अन्य निवेश खरीदते हैं, तो आप कुछ जोखिम उठा रहे होते हैं – इस इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है मामले में, यदि कीमत फिर से बढ़ने से पहले गिरती है तो आप पैसे खो सकते हैं (“जोखिम प्रीमियम”)। उस ने कहा, इस प्रकार के जोखिमों को कम करने के लिए रणनीतियाँ हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे समय के साथ आपके पोर्टफोलियो को प्रभावित नहीं करते हैं:

कम करें कि प्रत्येक व्यापार में कितना पैसा जाता है ताकि नुकसान होने में अधिक समय लगे; यह उन्हें त्रुटि के लिए कम जगह देगा

ब्रोकर द्वारा अनुशंसित की तुलना में अधिक लीवरेज वाले मार्जिन खातों का उपयोग करें

अपनी Time frame जानें

इंट्राडे ट्रेडिंग एक अल्पकालिक निवेश रणनीति है। इसमें एक ही दिन में ट्रेडिंग सिक्योरिटीज शामिल हैं, आमतौर पर किसी भी दिन सुबह 9:00 बजे से दोपहर 1:30 बजे के बीच। इसका मतलब है कि स्टॉक एक घंटे के भीतर या उनकी दैनिक सीमा (या तीसरे) के दो तिहाई के भीतर खरीदे और बेचे जाते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग के कई फायदे हैं। सबसे पहले, आप पैसा कमा सकते हैं यदि आप जानते हैं कि आपके बाजार की स्थितियों के लिए कौन सी समय सीमा काम करती है और आप कितना जोखिम लेने को तैयार हैं। दूसरा, यह अन्य प्रकार के निवेशों की तरह जटिल नहीं है क्योंकि दुनिया भर के बाजारों को प्रभावित करने वाले ब्याज दर आंदोलनों या मैक्रोइकॉनॉमिक घटनाओं जैसे कई अंतर्निहित कारक शामिल नहीं हैं; केवल यह मायने रखता है कि प्रत्येक महीने/तिमाही/वर्ष आदि के दौरान निश्चित दिनों के दौरान निश्चित समय पर कुछ शेयरों में पर्याप्त तरलता है या नहीं… तीसरा”, चौथा…

अनुसंधान और एक अच्छी रणनीति विकसित करें।

पहली बात यह है कि एक अच्छी रणनीति पर शोध और विकास करना है। अगर आपको नहीं पता कि इसका क्या मतलब है, तो चिंता न करें! यह उतना मुश्किल नहीं है जितना लगता है।

बाजार में कई अलग-अलग रणनीतियां उपलब्ध हैं, लेकिन उन सभी के अपने फायदे और नुकसान हैं। आपके लिए सही खोजने के लिए, निम्नलिखित पर विचार करें:

मैं किस प्रकार का व्यापार करना चाहता हूँ? डे-ट्रेडिंग या स्विंग ट्रेडिंग? इंट्राडे या इंटरडे? सिंगल स्टॉक या इंडेक्स?

मैं कितनी बार ट्रेडिंग करूंगा (दैनिक/साप्ताहिक)? मेरे सिग्नल कितने समय तक चलने चाहिए (1 मिनट ऊपर/नीचे)? क्या मैं स्टॉप लॉस का इस्तेमाल करूंगा या प्रॉफिट लूंगा। क्या मुझे किसी भी ट्रेलिंग स्टॉप लॉस की आवश्यकता है? क्या इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं अपनी इंट्राडे ट्रेडिंग रणनीति के साथ शुरुआत करते समय कितनी पूंजी का उपयोग करता हूं

इमोशनल ट्रेडिंग से बचें

भावनात्मक व्यापार आपदा के लिए एक नुस्खा है। यह खराब निर्णयों की ओर ले जाता है, और यह आपको धन, आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान की हानि की ओर ले जा सकता है।

जब आप अपने ट्रेडों में भावनात्मक रूप से निवेशित होते हैं, तो तर्क के बजाय भावनाओं के आधार पर खरीदने या बेचने में चूसा जाना आसान होता है – और यदि इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है व्यापारियों के रूप में हमारे वर्षों के अनुभव से हमने एक चीज सीखी है, तो यह है कि भावनाओं को कभी भी शामिल नहीं किया जाना चाहिए। अपने निवेश के बारे में निर्णय लेने में।

आप इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमा सकते हैं लेकिन आपको पहले अपना होमवर्क करना होगा।

आप इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमा सकते हैं लेकिन आपको पहले अपना होमवर्क करना होगा।

अल्पावधि में, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आप लाभदायक होंगे। पैसा कमाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि धैर्य रखें और समझें कि बाजार के रुझान को सामने आने और लाभदायक स्थिति में विकसित होने में समय लगता है। यदि कोई स्थिति काम नहीं कर रही है तो उसे जबरदस्ती करने की कोशिश न करें; इसके बजाय, आगे बढ़ें और अन्य अवसरों को देखें जो समय के साथ या विभिन्न बाजारों में प्रकट हो सकते हैं।

यदि आपको इस बारे में कोई संदेह है कि इंट्राडे रणनीति लंबे समय तक काम करेगी या नहीं (4 सप्ताह से अधिक), तो उनका उपयोग न करें! इस प्रकार के व्यापार में बहुत अधिक जोखिम शामिल हैं, इसलिए जब तक सब कुछ सही नहीं दिखता तब तक उनका इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है उपयोग न करें!

निष्कर्ष

संक्षेप में, इंट्राडे ट्रेडिंग पैसा बनाने का एक शानदार तरीका है। आप विदेशी मुद्रा या स्टॉक जैसे विभिन्न बाजारों से चुन सकते हैं और बहुत से लोग इन रणनीतियों का उपयोग करके पैसा कमा रहे हैं। हालांकि, इससे पहले कि आप व्यापार शुरू करें, अपना शोध करना महत्वपूर्ण है क्योंकि इस प्रकार की निवेश रणनीति से जुड़े जोखिम हैं जो हर किसी की जरूरतों के अनुरूप नहीं हो सकते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है

You are currently viewing इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

  • Post author: ShareMarketIndia
  • Post published: March 11, 2022
  • Post category: शेयर मार्केट
  • Post comments: 0 Comments

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

शेयर मार्केट में जब एक दिन के अंदर ही शेयर को खरीदकर बेचा जाता है तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है।शेयर मार्केट सुबह 9:15 को खुलता है और 3:30 को बंद होता है।इस समय के बीच में अगर आप शेयर खरीदकर उसे बेच देते है तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग में सफलता पाने के लिए,आपको यह जानना महत्वपूर्ण है कि इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए शेयर कैसे चुने?(How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi)। इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए अच्छे शेयर चुनकर आप कम समय में अच्छा पैसा कमा सकते है।

लेकिन बहुत से लोग मुनाफा नहीं कमा पाते उल्टा नुकसान कर बैठते है। क्योंकि वे इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए अच्छे और उपयुक्त शेयर नहीं चुन पाते।

आज में आपको कुछ ऐसी टिप्स बताने वाला हूं जिससे आप इंट्राडे के लिए अच्छे शेयर चून सकते इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है है।

Table of Contents

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – तरलता

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए आपको ऐसे शेयर चुनने चाहिए जिसमें ज्यादा तरलता हो। तरलता को इंग्लिश में लिक्वडिटी कहा जाता है।

तरलता का मतलब होता है कि किसी भी शेयर को आसानी से कभी भी खरीदा और बेचा जा सकता है। यानी कि आपके पास जो भी शेयर है, उसे सही वक्त आने पर बेच कर आसानी से कैश में बदला जा सके। कोई भी शेयर जितना तरल होगा, उसे उतनी आसानी से खरीदा और बेचा जा सकता है। अगर कोई शेयर जितना कम तरल होगा उसे बेचना और खरीदना उतना ही मुश्किल हो सकता है।

अच्छी तरलता वाले शेयर को इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए चुनने से जब भी आपको एक अच्छा मुनाफा हो तो उसे बेचने में आसानी होती है।

अगर शेयर को खरीदने वाले लोग कम होंगे तो हो सकता है कि जब आप शेयर को बेचना चाहते हो उस वक्त आपको खरीदार ही ना मिले। इसलिए आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए ज्यादा तरल स्टॉक में ही ट्रेडिंग करनी चाहिए।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – मीडियम वोलैटिलिटी

आपको ऐसे शेयर चुनने है जिसमें मीडियम वोलैटिलिटी यानी उतार चढ़ाव होते हो।

इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमाने के लिए शेयर के प्राइस मूवमेंट की आवश्यकता होती है। इसलिए ऐसे शेयरों का चयन जरूरी होता है जिसमें वोलैटिलिटी हो।अगर आपने ऐसे शेयर चुन लिए जिसमें ज्यादा प्राइस मूवमेंट ना होती हो तो आप अच्छा पैसा नहीं बना पाएंगे।इसलिए आपको जिसमें मीडियम वोलैटिलिटी हो ऐसे शेयर चुनने चाहिए।

हाई वोलैटिलिटी वाले शेयर में रिस्क ज्यादा होता है।अगर आप ज्यादा रिस्क ले सकते है तो हाई वोलैटिलिटी वाले शेयर भी चुन सकते है। लेकिन मेरी राय ये होगी की आप ऐसे शेयरों से दूर रहे।

विशेषज्ञ उन शेयरों को चुनने का सुझाव देते हैं जिनमें औसतन प्रति दिन कम से कम 3 प्रतिशत की प्राइस मूवमेंट होती है।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – मार्केट ट्रेंड्स

कुछ शेयर ऐसे होते है जो मार्केट के रुझान यानी ट्रेंड्स के साथ चलते हैं। यानी जब मार्केट ऊपर जाता है तो वे ऊपर जाते हैं और जब मार्केट निचे होता है तो वे नीचे जाते हैं।

मार्केट ट्रेंड्स बहुत से बार शेयरों के प्राइस मूवमेंट को निर्धारित करता है। ऐसा शेयर चुनें जिसमें मार्केट में तेजी आने पर बढ़ने की क्षमता हो।एक इंट्राडे ट्रेडर होने के नाते, आपको उन शेयरों को चुनने चाहिए जो मार्केट के रुझान के साथ चलते हैं।

ऐसे शेयरों के साथ पैसा बनाने का मौका ज्यादा होता है। क्योंकि वे शेयर कभी कभी पूरे मार्केट की तुलना से अधिक बढ़ते हैं।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – टेक्निकल एनालिसिस

टेक्निकल एनालिसिस में किसी भी शेयर की प्राइस मूवमेंट को देखकर यह अंदाज़ा लगाया जाता है की शेयर ऊपर जायेगा या नीचे।

टेक्निकल एनालिसिस को शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।टेक्निकल एनालिसिस की मदद से आप शेयर प्राइस मूवमेंट,ट्रेंड्स,ट्रेडिंग वॉल्यूम इन सबका पता कर सकते हैं।

आप टेक्निकल एनालिसिस यूट्यूब चैनल, वेबसाइट्स या कोई कोर्सेस करके सीख सकते है।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – शेयर मार्केट न्यूज़ देखे

अगर किसी कंपनी से जुड़ी कुछ अच्छी खबर आती है तो उसके शेयर में बढ़ोतरी हो सकती है।अगर खबर बुरी हो तो शेयर मी गिरावट भी आ सकती है।

अगर किसी शेयर से संबंधित कुछ अच्छा समाचार आने वाला होता है, तो आप समाचार सामने आने से पहले शेयर पैसा लगा सकते हैं। उदाहरण के लिए,अगर कोई कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है या क्वार्टरली रिजल्ट्स या अन्य कोई घोषणा करती है तो हो सकता है कि उसके शेयर मी बढ़ोतरी देखने मिले।

कुछ कम्पनियों के शेयर सरकारी घोषणा,बजट घोषणा,आरबीआई घोषणा आदि से भी प्रभावित होते हैं।इसलिए आपको शेयर मार्केट से जुड़ी न्यूज़ भी देखनी चाहिए।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – FAQ

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने?

तरलता,मीडियम वोलैटिलिटी,मार्केट ट्रेंड्स,टेक्निकल एनालिसिस,शेयर मार्केट न्यूज़ देखे

निष्कर्ष

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सही और अच्छा शेयर चुनकर आप अच्छे पैसे बना सकते हो।इंट्राडे ट्रेडिंग करना जोखिम भरा हो सकता है लेकिन सही तरीके और मानसिकता के साथ, आप बहुत अधिक लाभ कमा सकते हैं।

अगर आपको इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने?(How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi) इसके बारे में यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर कीजिए।

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है

You are currently viewing इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

  • Post author: ShareMarketIndia
  • Post published: March 11, 2022
  • Post category: शेयर मार्केट
  • Post comments: 0 Comments

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने? | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

शेयर मार्केट में जब एक दिन के अंदर ही शेयर को खरीदकर बेचा जाता है तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है।शेयर मार्केट सुबह 9:15 को खुलता है और 3:30 को बंद होता है।इस समय के बीच में अगर आप शेयर खरीदकर उसे बेच देते है तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग में सफलता पाने के लिए,आपको यह जानना महत्वपूर्ण है कि इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए शेयर कैसे चुने?(How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi)। इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए अच्छे शेयर चुनकर आप कम समय में अच्छा पैसा कमा सकते है।

लेकिन बहुत से लोग मुनाफा नहीं कमा पाते उल्टा नुकसान कर बैठते है। क्योंकि वे इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए अच्छे और उपयुक्त शेयर नहीं चुन पाते।

आज में आपको कुछ ऐसी टिप्स बताने वाला हूं जिससे आप इंट्राडे के लिए अच्छे शेयर चून सकते है।

Table of Contents

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने | How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – तरलता

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए आपको ऐसे शेयर चुनने चाहिए जिसमें ज्यादा तरलता हो। तरलता को इंग्लिश में लिक्वडिटी कहा जाता है।

तरलता का मतलब होता है कि किसी भी शेयर को आसानी से कभी भी खरीदा और बेचा जा सकता है। यानी कि आपके पास जो भी शेयर है, उसे सही वक्त आने पर बेच कर आसानी से कैश में बदला जा सके। कोई भी शेयर जितना तरल होगा, उसे उतनी आसानी से खरीदा और बेचा जा सकता है। अगर कोई शेयर जितना कम तरल होगा उसे बेचना और खरीदना उतना ही मुश्किल हो सकता है।

अच्छी तरलता वाले शेयर को इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए चुनने से जब भी आपको एक अच्छा मुनाफा हो तो उसे बेचने में आसानी होती है।

अगर शेयर को खरीदने वाले लोग कम होंगे तो हो सकता है कि जब आप शेयर को बेचना चाहते हो उस वक्त आपको खरीदार ही ना मिले। इसलिए आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए ज्यादा तरल स्टॉक में ही ट्रेडिंग करनी चाहिए।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – मीडियम वोलैटिलिटी

आपको ऐसे शेयर चुनने है जिसमें मीडियम वोलैटिलिटी यानी उतार चढ़ाव होते हो।

इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमाने के लिए शेयर के प्राइस मूवमेंट की आवश्यकता होती है। इसलिए ऐसे शेयरों का चयन जरूरी होता है जिसमें वोलैटिलिटी हो।अगर आपने ऐसे शेयर चुन लिए जिसमें ज्यादा प्राइस मूवमेंट ना होती हो तो आप अच्छा पैसा नहीं बना पाएंगे।इसलिए आपको जिसमें मीडियम वोलैटिलिटी हो ऐसे शेयर चुनने चाहिए।

हाई वोलैटिलिटी वाले शेयर में रिस्क ज्यादा होता है।अगर आप ज्यादा रिस्क ले सकते है तो हाई वोलैटिलिटी वाले शेयर भी चुन सकते है। लेकिन मेरी इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है राय ये होगी की आप ऐसे शेयरों से दूर रहे।

विशेषज्ञ उन शेयरों को चुनने का सुझाव देते हैं जिनमें औसतन प्रति दिन कम से कम 3 प्रतिशत की प्राइस मूवमेंट होती है।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – मार्केट ट्रेंड्स

कुछ शेयर ऐसे होते है जो मार्केट के रुझान यानी ट्रेंड्स के साथ चलते हैं। यानी जब मार्केट ऊपर जाता है तो वे ऊपर जाते हैं और जब मार्केट निचे होता है तो वे नीचे जाते हैं।

मार्केट ट्रेंड्स बहुत से बार शेयरों के प्राइस मूवमेंट को निर्धारित करता है। ऐसा शेयर चुनें जिसमें मार्केट में तेजी आने पर बढ़ने की क्षमता हो।एक इंट्राडे ट्रेडर होने के नाते, आपको उन शेयरों को चुनने चाहिए जो मार्केट के रुझान के साथ चलते हैं।

ऐसे शेयरों के साथ पैसा बनाने का मौका ज्यादा होता है। क्योंकि वे शेयर कभी कभी पूरे मार्केट की तुलना से अधिक बढ़ते हैं।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – टेक्निकल एनालिसिस

टेक्निकल एनालिसिस में किसी भी शेयर की प्राइस मूवमेंट को देखकर यह अंदाज़ा लगाया जाता है की शेयर ऊपर जायेगा या नीचे।

टेक्निकल एनालिसिस को शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।टेक्निकल एनालिसिस की मदद से आप शेयर प्राइस मूवमेंट,ट्रेंड्स,ट्रेडिंग वॉल्यूम इन सबका पता कर सकते हैं।

आप टेक्निकल एनालिसिस यूट्यूब चैनल, वेबसाइट्स या कोई कोर्सेस करके सीख सकते है।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – शेयर मार्केट न्यूज़ देखे

अगर किसी कंपनी से जुड़ी कुछ अच्छी खबर आती है तो उसके शेयर में बढ़ोतरी हो सकती है।अगर खबर बुरी हो तो शेयर मी गिरावट भी आ सकती है।

अगर किसी शेयर से संबंधित कुछ अच्छा समाचार आने वाला होता है, तो आप समाचार सामने आने से पहले शेयर पैसा लगा सकते हैं। उदाहरण के लिए,अगर कोई कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है या क्वार्टरली रिजल्ट्स या अन्य कोई घोषणा करती है तो हो सकता है कि उसके शेयर मी बढ़ोतरी देखने मिले।

कुछ कम्पनियों के शेयर सरकारी घोषणा,बजट घोषणा,आरबीआई घोषणा आदि से भी प्रभावित होते हैं।इसलिए आपको शेयर मार्केट से जुड़ी न्यूज़ भी देखनी चाहिए।

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने – FAQ

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने?

तरलता,मीडियम वोलैटिलिटी,मार्केट ट्रेंड्स,टेक्निकल एनालिसिस,शेयर मार्केट न्यूज़ देखे

निष्कर्ष

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सही और अच्छा शेयर चुनकर आप अच्छे पैसे बना सकते हो।इंट्राडे ट्रेडिंग करना जोखिम भरा हो सकता है लेकिन सही तरीके और मानसिकता के साथ, आप बहुत अधिक लाभ कमा सकते हैं।

अगर आपको इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने?(How to Select Stock for Intraday Trading in Hindi) इसके बारे में यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर कीजिए।

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 476
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *