ट्रेड फोरेक्स

रुझान प्रकार

रुझान प्रकार
सरकारी और गैर सरकारी छात्र.छात्राओं का तकनीकि शिक्षा के प्रति रुझान | Original Article Poonam Bala*, Ramprakash Saini, in Journal of Advances and Scholarly Researches in Allied Education | Multidisciplinary Academic Research

'जहाज डूब रहा.. 2023 के रुझान आने शुरू', राजस्थान में प्रमुख सचिव Vs मंत्री, राज्यसभा चुनाव से पहले महाभारत

राजस्थान में सरकार के अंदर भी खेल चल रहा है। इस बार खेल मंत्री अशोक चांदना ने मोर्चा खोला है। उनकी भिड़ंत सीधे-सीधे प्रमुख सचिव कुलदीप रांका से हुई है। ट्वीट कर चांदना ने इस्तीफे की पेशकश की है। हालांकि अशोक गहलोत ने कहा कि उनके इस बयान को ज्यादा तूल नहीं देनी चाहिए। मगर बीजेपी नेताओं ने इसमें अपने लिए मौका ढूंढ लिया है।

इस बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने राज्य में प्रस्तावित ग्रामीण ओलंपिक का जिक्र किया। उन्होंने जयपुर में संवाददाताओं से कहा कि राज्य में ग्रामीण ओलंपिक होने हैं, जिनमें 30 लाख से अधिक लोग भाग लेंगे। इतना बड़ा भार उन (चांदना) पर है। हो सकता है कि वो किसी प्रकार के तनाव में आ गए हों और टिप्पणी कर दी। उसको ज्यादा गंभीरता से नहीं लेना चाहिए। मेरी उनसे बातचीत नहीं हुई है। दबाव में काम करते लग रहे हैं, इतनी बड़ी जिम्मेवारी उन पर आ गई है, देख लेंगे।

राजस्थान में प्रमुख सचिव Vs मंत्री अशोक चांदना
बगावती तेवर दिखाने वाले विधायक और मंत्री प्रदेश की ब्यूरोक्रेसी से नाराज हैं। उनका कहना है कि भले ही वे सरकार में हैं लेकिन अधिकारी उनकी सुनते ही नहीं है। काम नहीं होने से जनता तो परेशान है ही, पार्टी के कार्यकर्ता भी नाराज हैं। नाराज कार्यकर्ताओं के चलते कांग्रेस का फिर से सत्ता में लौटने का सपना साकार होना मुश्किल है। इसी कड़ी में मंत्री अशोक चांदना ने मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा की मेरे सभी विभागों का चार्ज कुलदीप रांका को दे दिया जाए क्योंकि वही सभी विभागों के मंत्री हैं। अशोक चांदना के पास युवा एवं खेल विभाग, कौशल विकास, डीआईपीआर, आपदा प्रबंधन और पॉलिसी प्लैनिंग विभाग है। मंत्री के आदेश के बावजूद इन विभागों में कामकाज नहीं होने से आहत चांदना ने मंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश कर दी।

ब्यूरोक्रेसी पर सवाल उठा रहे राजस्थान के विधायक
डूंगरपुर से कांग्रेस विधायक और यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश घोघरा ने भी 18 मई को विधायक पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। रुझान प्रकार घोघरा के खिलाफ डूंगरपुर के सदर थाने में राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज हुआ था। स्थानीय तहसीलदार ने उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इससे आहत होकर कांग्रेस विधायक गणेश घोघरा ने मुख्यमंत्री को अपना इस्तीफा भेज दिया था।

मुख्यमंत्री के सलाहकार और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने गृह विभाग के अधिकारियों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस भेजा है। उनके विधानसभा क्षेत्र में हत्या के एक मामले में निर्दोष व्यक्ति को जेल भेजने का मामला पिछले दिनों उन्होंने सदन में उठाया था। सरकार ने पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था। 3 महीने रुझान प्रकार बीत जाने के बावजूद भी निर्दोष को जेल भेजने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होने से नाराज संयम लोढ़ा ने गृह विभाग के अधिकारियों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस भेजा। पिछले दिनों डेंगू विधायक राजेंद्र सिंह बिधूड़ी ने भी ब्यूरोक्रेसी पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने सीधा मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि कार्यकर्ता मजबूत नहीं होगा तो हम चुनाव नहीं जीत सकेंगे। अगर हम चुनाव नहीं जीतेंगे तो आप मुख्यमंत्री नहीं बन सकते।

बीजेपी नेताओं ने अपने लिए ढूंढ लिया मौका
राजस्थान के कांग्रेस सरकार में मचे घमसान को लेकर बीजेपी नेताओं ने अपने लिया मौका ढूंढ लिया है। अशोक चांदना के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए सरकार पर हमला बोलना शुरू कर रुझान प्रकार दिया। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने तो यहां तक कह डाला है कि 'जहाज़ डूब रहा है… 2023 के रुझान आने शुरू।' दरअसल, उदयपुर के नव संकल्प चिंतन शिविर के बाद से कांग्रेस पार्टी में में घमासान मचा हुआ है। आपसी खींचतान की छोटी-मोटी बातें भी अब खुलकर सामने आने लगी है।

रुझान प्रकार

Year: Dec, 2021
Volume: 18 / Issue: 7
Pages: 253 - 257 (5)
Publisher: Ignited Minds Journals
Source:
E-ISSN: 2230-7540
DOI:
Published URL: https://ignited.in/I/a/305874
Published On: Dec, 2021

Article Details

सरकारी और गैर सरकारी छात्र.छात्राओं का तकनीकि शिक्षा के प्रति रुझान | Original Article

Poonam Bala*, Ramprakash Saini, in Journal of Advances and Scholarly Researches in Allied Education | Multidisciplinary Academic Research

रेस्तरां छतों के लिए आउटडोर फर्नीचर में क्या रुझान हैं?

अपनी छत को ठाठ, उत्तम दर्जे और ट्रेंडी तरीके से सजाना मुश्किल हो सकता है। विचार करने के लिए कई मानदंड हैं: स्थान, रंग के रंग और आपके रेस्तरां की शैली। आदर्श फर्नीचर चुनना अक्सर उस क्षेत्र पर भी निर्भर करता है जहां आपका रेस्तरां स्थित है। लेकिन सावधान रहें, यह याद रखना अनिवार्य है कि आपके रेस्तरां का बाहरी फर्नीचर ग्राहकों के लिए आकर्षक होना चाहिए। इसलिए, यदि आप उन्हें एक शांत, मैत्रीपूर्ण और आधुनिक स्थान प्रदान करना चाहते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप फर्नीचर और सजावट को एक विशिष्ट तरीके से व्यवस्थित करें।

लकड़ी के फर्नीचर से एक अच्छी तरह से सजाए गए छत का चित्र चित्रण। इंटरनेट के माध्यम से ली गई छवि।

फर्नीचर की गुणवत्ता के अनुसार छतों के लिए अपना बाहरी फर्नीचर चुनें

चूंकि बाहरी फर्नीचर को अक्सर खराब मौसम का सामना करना पड़ता है, ऐसे फर्नीचर का चयन करने की सलाह दी रुझान प्रकार जाती है जो यूवी किरणों के लिए प्रतिरोधी हो। नतीजतन, आपके फर्नीचर का न केवल लंबा जीवन होगा, बल्कि यह कुछ समय के लिए नया भी दिखेगा। दूसरी ओर, यह मत भूलो कि बाहरी फर्नीचर अधिक व्यावहारिक है यदि इसे आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है, अर्थात मॉड्यूलर। इस प्रकार, आदर्श फर्नीचर वे होंगे जो बहुत प्रतिरोधी रुझान प्रकार और हल्की सामग्री से बनाए गए हैं।

ऐसा करने के लिए, हमारा सुझाव है कि आप प्रतिरोधी लकड़ी की सामग्री जैसे: सागौन, ओक या बबूल में निवेश करें। ये प्रकार पूरी तरह से आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। दरअसल, लकड़ी का फर्नीचर मजबूत होता है और इसकी तटस्थता किसी भी प्रकार की शैली के अनुकूल हो सकती है। हालांकि, अन्य सुरुचिपूर्ण सामग्री जंग का विरोध कर सकती है और इसे बनाए रखना भी आसान है। इनमें से, हम पा सकते हैं: एल्यूमीनियम, स्टेनलेस स्टील, स्टील और बहुत कुछ। यदि आप चाहते हैं कि आपके रेस्तरां का बाहरी आँगन भीड़ से अलग दिखे, तो ऐसी गुणवत्ता वाली सामग्री का चुनाव करें जो दोनों एक सार्थक निवेश हो।

शैली और बारीकियों के रुझान प्रकार अनुसार छतों के लिए अपना आउटडोर फर्नीचर चुनें

एक व्यक्ति ज्यादातर समय शांत और शांत जगह में खुद को खोजने के लिए एक रेस्तरां में आता है। इसलिए अपने ग्राहकों को यह सुविधा देना बहुत महत्वपूर्ण है। बहुत अधिक विचलन न पैदा करने के लिए पहली बात यह सुनिश्चित करना है कि आपका बाहरी फर्नीचर इंटीरियर से बहुत अलग नहीं है। वहीं दूसरी ओर आप अपने फर्नीचर को चुनकर अपने इंटीरियर को भी सजा सकते हैं। इसलिए अंदर से बाहर लाना प्राथमिकता बन जाता है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस वर्ष वक्रों में वृद्धि हुई है। अपने रेस्तरां को और अधिक आकर्षण देने के लिए, आप फर्नीचर के लिए गर्म गोल मेज चुन सकते हैं। हालांकि, रुझान प्रकार उपयुक्त रंगों का चयन करना उचित है। उदाहरण के लिए, आप अपनी छत पर स्कैंडिनेवियाई शैली की पेशकश करने के लिए सफेद कुर्सियों वाली गोल लकड़ी की मेज चुन सकते हैं। फिर, आपको बस इतना करना है कि आदर्श सजावट जोड़ें। इसके अलावा, अपने फर्नीचर को सूरज की किरणों से बचाने के लिए पेर्गोलस या छतरियां लगाएं।

एक ठाठ डिजाइन के लिए, अपने फर्नीचर के लिए बड़प्पन के स्पर्श के लिए वसंत के रंगों पर खेलने की सलाह दी जाती है। इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि कारमाइन रेड, ऑरेंज और ब्लू क्यों न हो, के साथ रुझान प्रकार न्यूट्रल व्हाइट या बेज शेड्स को मिलाकर अपने चेयर पैड्स को पिगमेंट करें। हालांकि, पूरी तरह से ट्रेंडी शैली की रुझान प्रकार पेशकश करने के लिए, आपको सजावट पर बहुत अधिक भरोसा करना चाहिए। उदाहरण के लिए, बाहरी स्ट्रिंग रोशनी के साथ अपने आंगन में आकर्षक रोशनी जोड़ें।

UP Chunav News: छठे चरण का मतदान बीजेपी के लिए कितना महत्वपूर्ण? समझिए

UP Chunav News: छठे चरण का मतदान बीजेपी के लिए कितना महत्वपूर्ण? समझिए

अर्पिता आर्या

अर्पिता आर्या

  • नई दिल्ली,
  • 01 मार्च 2022,
  • अपडेटेड 5:53 PM IST

UP Sixth Phase Chunav: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में छठे चरण के लिए 10 जिलों रुझान प्रकार की 57 सीटों पर मंगलवार को प्रचार थम जाएगा. इस चरण में पूर्वांचल के अंबेडकरनगर से गोरखपुर तक की सीटों पर सियासी संग्राम होना है, जहां से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद भी चुनावी मैदान में है. योगी की असल परीक्षा इस चरण में होनी है, जो उनका सियासी गढ़ माना जाता है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने पूर्वांचल में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ जबरदस्त घेराबंदी कर रखी है. ऐसे में देखना है कि सीएम योगी विपक्षी दलों के चक्रव्यूह को कैसे तोड़ पाते हैं? इसी पर देखिए ये एपिसोड.

TAJA REPORT



मुजफ्फरनगर । आज श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज की इकाई श्रीराम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के इलैक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग संकाय द्वारा विभाग के द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ वर्ष के विद्यार्थियों के लिये तकनीकी प्रस्तुति का आयोजन किया गया। प्रस्तुति का शीर्षक ’’इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग से जुड़े प्रौद्योगिकी में हालिया रुझान’’ रहा। इस प्रस्तुति प्रतिस्पर्धा में विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया।

यह प्रस्तुति प्रतिस्पर्धा विद्यार्थियों की प्रस्तुति कला को उभारने एवं तकनीकी दुनिया के नवीनतम आविष्कारों, नवाचारों एवं खोजों से अवगत रुझान प्रकार कराने हेतु आयोजित की गई। इस प्रतिस्पर्धा के माध्यम से विद्यार्थियों ने विश्व भर में उपलब्ध नवीनतम तकनीकी विषयों की गहराई से जानकारी प्राप्त की। विद्यार्थियों ने चार-चार के समूहों में एक चयनित तकनीकी प्रस्तुति दी। विभिन्न विषयों में 5-जी वायरलेस टैक्नोलॉजी, ऑग्रेनिक इलैक्ट्रॉनिक्स, फ्लैक्सिबल डिस्पले, हैप्टिक टैक्नोलॉजी, मैडिकल इलैक्ट्रॉनिक्स एवं जेम्स वेब स्पेस टैलीस्कॉप आदि रहे।

विद्यार्थियों द्वारा निदेशक, रुझान प्रकार डीन, विभिन्न विभागाध्यक्षों, शिक्षकगणों एवं सहपाठियों के समक्ष प्रस्तुति दी गई। समूह में दी गई प्रस्तुति द्वारा उनकी टीम स्प्रिट, तकनीकी ज्ञान एवं प्रस्तुति की प्रतिभा उजागर हुई। इस प्रतिस्पर्धा में जेम्स वेब स्पेस टैलीस्कॉप विषयपर प्रस्तुति देने वाली छात्राकु0 अंशिका पुण्डीर तथा मैडिकल इलैक्ट्रॉनिक्स विषय परकु0 अंजलि व आलिम की टीम प्रथम विजेता रही। ऑग्रेनिक इलैक्ट्रॉनिक्स पर वीरसन एवं 5-जी वायरलेस टैक्नोलॉजी विषयपर प्रस्तुति देने वाली टीम विशु मलिक, दीक्षा व साक्षी की टीम द्वितीय स्थान पर रही। फ्लैक्सिबल डिस्प्ले पर शलेष चौधरी, सागर, हर्ष गौतम व देवांश की टीम तृतीय स्थान पर रही।

प्रतिभागी छात्रों ने अपने विचार इस प्रकार प्रकट किये कि जेम्स वेब स्पेस टैलीस्कॉप एक प्रकार की अवरक्त अंतरिक्ष वेदशाला है। इसका मुख्य कार्य ब्रम्हाण्ड के उन सुदूर निकायों का अवलोकन करना है जो पृथ्वी पर स्थित वेदशालाओं और हर्बल दूरदर्शी की पहंुच के बाहर है। मैडिकल इलैक्ट्रॉनिक्स के अंतर्गत ऐसे डिवाइस बनानो सिखाये जाते हैं जो मैडिकल व स्वास्थय सम्बन्धी समस्याओं का समाधान करने में सक्षम है। ऑर्गेनिक इलैक्ट्रॉनिक्स अधिक पारिस्थिकी और सस्ते अर्धचालकों के उत्पादन के लिये एक तकनीकी क्रांति हो सकती है जो अधिक गुणों से लैस है, विशेष रूप से ऊर्जा वसूली संरक्षण और प्रकाश व्यवस्था के लिये है।

5-जी तकनीकी एक प्रकार की वायरलैस कनैक्टिविटी है जिसमें रेडियोवेव का प्रयोग होता है। यह मोबाइल नेटवर्क की एक नई टैक्नोलॉजी है और पिछले सभी नेटवर्क के मुकाबले 5-जी नेटवर्क की डाटा क्षेत्र में बड़ी भूमिका होगी।

इस अवसर पर डीन एकेडेमिक्स, डॉ0 सुचित्रा त्यागी द्वारा भविष्य में ऐसी और प्रतिस्पर्धा आयोजित कराने के लिये विभाग को प्रेरित किया तथा इस प्रकार की प्रतियोगिताओं में अधिक से अधिक प्रतिभागिता कराने के लिये प्रोत्साहित किया गया। प्रतियोगिता में विजेता टीम को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये। विभागाध्यक्ष इं0 कनुप्रिया एवं प्रवक्ताओं द्वारा विद्यार्थियों के सफल भविष्य की कामना की गई। इस अवसर पर इं0 अमित कुमार गुप्ता, इं0 आशीष सिंह, ंइं0 इन्दु, ंइं0 अमित कुमार, मैकेनिकल इंजी0 के विभागाध्यक्ष इं0 पवन चौधरी, इं0 अंकुर सैनी, इं0 विवेक अहलावत व श्री गगन कुमार तायल उपस्थित रहे।

विभागाध्यक्षा इं0 कनुप्रिया ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुये कहा कि इस प्रकार की प्रस्तुतियों से श्रीराम इंजीनियरिंग कॉलेज के विद्यार्थियों के तकनीकि ज्ञान में निश्चित रूप से वृ़िद्ध होगी। इस हेतु श्रीराम इंजीनियरिंग कॉलेज इस प्रकार के कार्यक्रम कराने के लिए सदैव तत्पर रहेगा।

रेटिंग: 4.89
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 213
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *